Loading...

भारत ने 137 रन से जीता मेलबर्न टेस्ट, 40 साल बाद किया ऐसा कारनामा, लगी रिकॉर्ड्स झड़ी

0 24

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में चल रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट में हराकर इतिहास रच दिया। जी हां आज भारत ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के तीसरे टेस्ट के पांचवें दिन ऑस्ट्रेलिया के दोनो विकेटों को गिराकर ऑस्ट्रेलिया को 137 रन से मात दे दी।

इसके साथ ही टीम इंडिया चार मैच की सीरीज में 2-1 से आगे हो गई। बता दें कि टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में 40 साल बाद किसी टेस्ट सीरीज में 2-1 की बढ़त ले पाई है। इससे पहले उसने 1977-78 में हुई सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल की थी। हालांकि ये बात अलग है कि तब बाद में भारत वह सीरीज 2-3 से हार गया था।

भारत के लिए जीत के हीरो जसप्रीत बुमराह रहे जिन्होंने इस ऐतिहासिक मैच में नौ विकेट लिए। बता दें कि भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरे सत्र यानि की लंच के बाद हराया। ऐसा इसलिए क्योंकि सुबह बारिश की वजह से पहले सत्र का खेल नहीं हो पाया था।

इससे पहले इस ऐतिहासिक मैच में भारत ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। टीम इंडिया ने सात विकेट पर 443 रन बनाकर पहली पारी घोषित की। जवाब में ऑस्ट्रेलिया अपनी पहली पारी में केवल 151 रनों पर ढेर हो गई। हालांकि फिर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन नहीं दिया और बल्लेबाजी का ही फैसला किया।

Loading...

टीम इंडिया ने दूसरी पारी आठ विकेट पर 106 रन बनाकर अपनी दूसरी पारी घोषित की और ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 399 रन का लक्ष्य दिया। लेकिन लक्ष्य का पीछा करने उतरी कंगरुओ की पूरी टीम 89.3 ओवर में केवल 261 बनाकर पवेलियन लौट गई।

मेलबर्न में 38 साल बाद भारत ने चखा जीत का स्वाद

बता दें कि भारत के लिए ये जीत बेहद ही ख़ास है क्योंकि टीम इंडिया ने मेलबर्न पर 37 साल और 10 महीने के बाद कोई जीत हासिल की है।

मालूम हो कि टीम इंडिया ने इस मैदान पर आखिरी बार 11 फरवरी 1981 को जीत का स्वाद चखा था। भारत ने वह टेस्ट 59 रन से जीता था।

उसके बाद से भारत ने इस मैदान पर आठ टेस्ट खेले, जिनमें पांच हारे और दो ड्रॉ कराए। ये सभी बॉक्सिंग-डे टेस्ट थे।

बुमराह को मिला प्लेयर ऑफ द मैच का ख़िताब

ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी में बल्लेबाजों की कमर तोड़ने का श्रेय जसप्रीत बुमराह को जाता है। बुमराह ने पहली पारी में शानदार गेंदबाजी की ओर 6 कंगारू बल्लेबाजो को पवेलियन का रास्ता दिखलाया।

हालांकि बुमराह यहीं नहीं रुके और दूसरी पारी में भी उन्होंने जानदार गेंदबाजी की। दूसरी पारी में बुमराह ने 3 विकेट झटके और इस तरह उन्होंने इस मैच में कुल 9 कंगारू बल्लेबाजों का शिकार किया। बुमराह के इस मैच विनिंग प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

इशांत शर्मा ने बेदी को छोड़ा पीछे

मेलबर्न में खेला गया तीसरा टेस्ट सिर्फ बुमराह के लिए ही नहीं बल्कि इशांत शर्मा के लिए भी कमाल का गया। जी हां इशांत शर्मा ने इस टेस्ट की दूसरी पारी में दो विकेट लिए और जैसे ही उन्होंने नैथन लायन को आउट किया उनके टेस्ट में 267 विकेट हो गए।

और इस तरह उन्होंने भारत के पूर्व दिग्गज बिशन सिंह बेदी के 266 विकेट के आंकड़े को पीछे छोड़ा। अब इशांत सबसे ज़्यादा विकेट लेने के मामले में छठे भारतीय गेंदबाज बन गए हैं। अब उनसे आगे अनिल कुंबले (619), कपिल देव (434), हरभजन सिंह (417), रविचंद्रन अश्विन (342), जहीर खान (311) हैं।

ट्विटर पर लगा बधाइयों का तांता

भारत की इस ऐतिहासिक जीत से पूरे देश में ख़ुशी की लहर दौड़ गई। कई लोगो ने सोशल मीडिया के चर्चित माध्यम ट्विटर के जरिए टीम इंडिया को बधाई दी। कई पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों ने भी टीम इंडिया को शुभकामनाएं दी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.