Loading...

मोदी सरकार ने विज्ञापन पर बहाया पानी की तरह पैसा, चार साल में खर्च किए 5245 करोड़ रुपए

0 20

केंद्र की मोदी सरकार ने अपने चार साल के कार्यकाल में बहुत कुछ किया है। मोदी सरकार ने कई योजनओं को शुरू किया हालांकि कई में इनको कामयाबी नहीं मिली।

लेकिन शायद ही आप ये बात पता हो की इन योजनाओं को प्रोमोट करने के लिए सरकार ने पैसा पानी की तरह बहाया है. जी हां, अब तक सरकारी योजनाओं के प्रचार प्रसार में मोदी सरकार ने कुल 5245.73 करोड़ रुपये खर्च कर दिए हैं.

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने इस विषय के बारे में लोकसभा में बताया। जी हां राठौर ने गुरुवार यानि की 27 दिसंबर को लोकसभा में बताया कि पिछले चार साल मेें केंद्र सरकार ने सरकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार में 5245.73 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.

इस दौरान राज्यवर्धन सिंह राठौर ने यह भी बताया कि यह धनराशि साल 2014 से लेकर सात दिसंबर 2018 तक की अवधि के दौरान खर्च हुई है.

Loading...

राठौर के मुताबिक ऐसा करना इसलिए भी ज़रूरी था ताकि सभी तक हमारी बात पहुंचे. उन्होंने बताया कि अलग-अलग मंत्रालयों और विभागों की योजनाओं को लाभार्थियों के बीच पहुंचाने के लिए इस राशि को खर्च किया गया है.

राठौर ने लोकसभा में बताया कि प्रचार-प्रसार में सबसे ज्यादा खर्च वर्ष 2017-18 के सत्र में किया गया है. इस दौरान कुल 1313.57 करोड़ रुपए खर्च किए गये. जिसमें से 636.09 करोड़ रुपए प्रिंट माध्यम, 468.93 करोड़ इलेक्ट्रॉनिक माध्यम, 208.55 करोड़ रुपए आउटडोर पब्लिसिटी पर खर्च किए गए हैं.

राठौर ने ये भी बताया कि 2014-15 के सत्र में सरकार ने करीब 980 करोड़ (979.78 करोड़) रुपये खर्च किए.

उधर 2017-18 आते-आते इसमें करीब 33-35 % का इजाफा हुआ. इसके बाद यह रक़म बढ़कर करीब 1,314 करोड़ रुपये हो गई.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.