Loading...

प्रेग्नेंट महिला को खून चढ़ाते ही लग गई ऐसी गंभीर बीमारी की बिगड़ने लगे हालात, जांच में सामने आई

0 1,613

आज हम आपको बताते हैं कि तमिलनाडु के संतूर जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां पर एक गर्भवती महिला को बड़ी लापरवाही के चलते होना पड़ा एक ऐसी बीमारी का शिकार जिससे उसकी पूरी जिंदगी तबाह हो गई है।

25 साल की गर्भवती को एचआईवी संक्रमित खून चढ़ाने का मामला सामने आया है। महिला आठ माह की गर्भवती है, उसे खून की कमी (एनीमिया) होने पर डॉक्टरों ने ब्लड लगवाने की सलाह दी थी। इसके बाद दो हफ्ते पहले परिजन शिवकाशी के सरकारी अस्पताल से एक यूनिट ब्लड लेकर आए थे। ब्लड चढ़ाने के बाद महिला की हालत लगातार गिरती चली गई। फिर जांच में उसके एचआईवी-पॉजिटिव होने का खुलासा हुआ। सरकार ने राज्य के सभी ब्लड बैंकों की जांच के आदेश दिए हैं।

तमिलनाडु अपने तरीके का पहला मामला

बता दें कि तमिलनाडु में इस प्रकार का मामला आज तक सामने नहीं आया है। जब किसी मरीज को ब्लड चढ़ाने से उसे एचआईवी(ऐड्स) हो गया है। गर्भवती महिला के परिवारजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि अफसरों ने लापरवाही पूर्व रवैया अपनाया और नेशनल एड्स कंट्रोल आर्गेनाइजेशन की गाइडलाइन का भी उल्लंघन किया है।

Loading...

खून चढ़ने से पहले थी एचआईवी नेगेटिव

बता दें कि महिला ने इससे पहले भी डॉक्टर की सलाह पर कई जांच कराई थी तब महिला एचआईवी नेगेटिव थी मगर सरकारी अस्पताल से लाकर चलाया गया ब्लड उसके लिए घातक साबित हो गया और उसे एचआईवी पॉजिटिव बना दिया जिसके बाद से उसकी सेहत और गिरने लगी थी बीते 24 दिसंबर को उसको एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था

डोनर के एचआईवी पॉजिटिव होने की बात आई सामने

विरुधुनगर में स्वास्थ्य सेवाओं के संयुक्त संचालक डॉ. आर मनोहरन ने मामले की गहन जांच के निर्देश दिए हैं। बताया जा रहा है कि यह ब्लड 30 नवंबर को एक डोनर से लिया था। डोनर पर एचआईवी पॉजिटिव होने का संदेह था इसमें सरकारी अस्पताल के 3 कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की बात कही गई है और इस बात की भी जांच हो रही है कि वह खून किसी और मरीज को तो नहीं चढ़ाया गया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.