Loading...

साल 2018 में बॉलीवुड की इन बड़ी फिल्मों को पाकिस्तान में कर दिया गया बैन

0 12

हर साल बॉलीवुड की बहुत साड़ी फिल्मे रिलीज की जाती हैं। जिसके में कुछ फिल्में रिकॉर्ड तोड़ कमाई करती हैं तो कुछ बुरी तरह से फ्लॉप हो जाती हैं। लेकिन वही इन्हे से कुछ फिल्में ऐसी होती हैं। जिन्हें विदेशों में बैन कर दिया जाता हैं। बता दें इनमें से कुछ फिल्में ऐसी हैं। जिन्हें पाकिस्तान में रिलीज होते ही बैन कर दी जाती है। आइए आज नजर डालते हैं कुछ ऐसी ही फिल्मों पर /

परी

इस फिल्म को पकिस्तान में रिलीज नहीं किया गया हैं। बता दे पकिस्तान सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म के कुछ हिस्सों पर आपत्ति जताई थी और इसे मुस्लिम विरोधी भावनाओं को भड़काने का गंभीर आरोप लगाया था। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि फिल्म में काला जादू भी दिखाया गया है जो कि अंधविश्वास को बढ़ावा देता है।

परमाणु

Loading...

इस फिल्म को भी पाक में रिलीज नहीं किया गया था। बता दे इस फिल्म की स्टोरी परमाणु परीक्षण पर आधारित थी। इस फिल्म को अभिषेक शर्मा ने डायरेक्ट किया था। इस फिल्म को पाकिस्तान में महज इसलिए डायरेक्ट नहीं किया गया था क्योंकि ये फिल्म ईद के मोके पर रिलीज की जानी थी जिसके बाद पाक सेंसर बोर्ड का फैसला लिया कि जिसमें कहा गया था ईद पर रिलीज होने वाली भारतीय फिल्में रिलीज नहीं होगी।

अय्यारी

इस फिल्म को भी पकिस्तान में बैन झेलना पड़ा था। यह फील भारतीय सेना की कहानी से जुडु हुई फिल्म हैं। जोकि भारतीय देशभक्ति को दिख लाती हैं। जिसकी वजह से ‘अय्यारी’ को पाकिस्तान सेंसर बोर्ड ने सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया।

मुल्क

तापसी की फिल्म को भी पाकिस्तान में रिलीज नहीं किया गया हैं। मुल्क फिल्म पर बैन के बाद प्रोड्यूसर दीपक मुकुत ने उस वक्त कहा था – “हम पाकिस्तान के फेडरल सेंसर बोर्ड के इस फैसले से काफी निराश हैं। हमारी फिल्म लोगों के बीच पक्षपात की कहानी बयां करती है। मैं पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड से अपील करता हूं कि वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करें।”

राजी

इस फिल्म को भी पकिस्तान में बैन कर दिया गया था। पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड का कहना हैं कि , इस फिल्म का कंटेंट काफी विवादित हैं। और ये फिल्म पकिस्तान का नेगेटिव रोल दिखा रही हैं। इसी वजह से आलिया भट्ट की राजी फिल्म पाकिस्तान में रिलीज नहीं हुई थी।

पैडमैन


इस फिल्म को भी पकिस्तान में बैन झेलना पड़ा था। इस फिल्म में महिलाओं को पीरियड्स के समय होने वाली समस्याओं को पूरी तरह से दिखाया गया हैं।
इसी वजह से पाकिस्तान में फिल्म को बैन कर दिया गया था। पाकिस्तान की सेंसर बोर्ड ने तर्क दिया था – ‘यह फिल्म उनकी सभ्यता और संस्कृति के खिलाफ है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.