Loading...

मोदी सरकार ने तैयार की देश को रोशन करने की योजना, अटल ज्योति से जगमगाएंगे ये राज्य

0 13

मोदी सरकार ने देश को अँधेरे से उजाले की ओर ले जाने के अपने प्रयास में एक और योजना की शुरुआत कर दी है। जी हां, अब मोदी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर शुरू की गई अटल ज्योति योजना (AJAY) का दूसरा चरण शुरू किया गया है।

दरअसल इस योजना का मकसद अँधेरे में पड़े राज्यो को रौशनी दिलाना है। बता दें कि इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश, बिहार सहित कई राज्यों में 3.04 लाख सोलर स्ट्रीट लाइट्स लगाई जाएंगी।

खर्चे की बात करें तो इस प्रोजेक्ट पर 761 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। इस पर केंद्र सरकार द्वारा 75 % केंद्रीय वित्तीय सहायता दी जाएगी जबकि 25 % राशि सांसद निधि कोष के रूप में दी जाएगी।

कौन से होंगे वो राज्य जो अब जगमगाएंगे

Loading...

जानकारी के लिए बता दें कि अटल ज्योति योजना के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा और असम में स्ट्रीट लाइट्स लगाई जाएंगी।

यही नहीं इनके अलावा जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड, सिक्किम, अंडमान निकोबार और लक्षद्वीप भी इस लिस्ट में शामिल हैं।

कितनी है एक स्ट्रीट लाइट की कीमत

मालूम हो कि इस प्रोजेक्ट में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाई जा रही है। अगर कीमत की बात की जाए तो एक स्ट्रीट लाइट की कीमत 25 हजार रुपए बताई गई है। इसमें 12 वाट का एलईडी बल्ब लगा है। साथ ही, एक सोलर पैनल भी लगा हुआ है।

दूसरा चरण पूरा होने में लगेंगे दो वर्ष

मालूम हो कि अटल ज्योति योजना को दो चरण में बांटा गया है। दूसरा चरण 2018-19 व 2019-20 में पूरा होगा। 2018-19 में 2 लाख सोलर स्ट्रीट लाइटें लगेंगी जबकि 2019-20 में 1 लाख 4 हजार 500 स्ट्रीट लाइटें लगेंगी। यानि की कुल दो साल इस दूसरे चरण को पूरा होने में लग जाएंगे।

किस हिसाब से होगा पैसा खर्च

मिनिस्ट्री ऑफ न्यू एंड रिन्यूएबल एनर्जी के डॉक्यूमेंट के मुताबिक अजय यानि की अटल ज्योति योजना के दूसरे चरण में कुल 761 करोड़ रुपए खर्च होगा।

इसमें से 571 करोड़ रुपए केंद्र सरकार खर्च करेगी जबकि 190 करोड़ रुपए एमपी लेड फंड से खर्च होगा। जबकि 12 करोड़ रुपए सर्विस चार्ज और मॉनीटरिंग आदि पर खर्च होगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.