Loading...

मरीज की हो चुकी थी मौत, लेकिन डॉक्टर खेलते रहे ऑपरेशन-ऑपरेशन, सर्जरी के नाम पर ठगे लाखों और फिर

0 40

वैसे तो आपने बहुत सारे ठगी के मामले सुना होंगे पर आज हम आपको एक ऐसा ठगी का मामला बताने जा रहे हैं। इसमें डॉक्टरों ने मृतक को जीवित बताकर परिवारजनों से की ठगी जी हां आज की यह रिपोर्ट इसी मामले पर आधारित है।

कानपुर शहर के सर्वोदय नगर में एक निजी अस्पताल द्वारा हादसे में घायल युवक की मौत के बाद भी ऑपरेशन के नाम पर परिजनों से लाखों की वसूली करने का मामला सामने आया है। मीडिया रिपोर्ट्सके मुताबिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से डॉक्टरों की इस करतूत का खुलासा हुआ है। पीएम रिपोर्ट में मौत ज्यादा खून बहने से होना बताया गया है। हालांकि, अभी तक मृतक के परिजनों की ओर से पुलिस में किसी भी तरह की शिकायत नहीं दी गई है।

मृतक की पहचान 18 वर्षीय रोहित के रूप में हुई है जो इलाहाबाद का रहने वाला था। रोहित जो की एक निजी कंपनी में असिस्टेंट फिटर का काम करता था। यह कंपनी कानपुर-फर्रुखाबाद रेलवे लाइन पर इलेक्ट्रिफिकेशन का काम कर रही है।

बुधवार की सुबह 12 कर्मचारी पिकअप से साइट पर जा रहे थे। तभी बिल्हौर में जीटी रोड पर बड़ा हादसा हो गया। जिसमें रोहित जख्मी हो गया।

Loading...

कंपनी के मैनेजर हर्षित ने उसे सर्वोदय नगर में मौजूद एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। आरोप है कि गुरुवार को ऑपरेशन के नाम पर डॉक्टरों ने दो बार 3.30 लाख रुपए जमा कराए।

शुक्रवार को जब कंपनी के कर्मचारी रोहित को देखने आईसीयू पहुंचे, तो डॉक्टरों ने उसके साथी को उसकी मौत की जानकारी दी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.