Loading...

लड़के की फेसबुक पोस्ट देख उसे दिल दे बैठी लड़की, फिर दोनों ने कर ली शादी, लेकिन जब सामने आई

0 70

साल 2015 में फेसबुक पर दोस्ती हुई। धीर-धीरे लड़का-लड़की एक दूसरे की दहेज विरोधी विचारधारा से इतना प्रभावित हुए कि 2017 में उन्होंने शादी कर ली। लेकिन यह शादी 2 साल भी नहीं चल पाई, क्योंकि लड़की ने लड़के और ससुराल पक्ष पर दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया है और पुलिस को शिकायत दी है। लड़की का कहना है कि जो लड़का शादी से पहले दहेज विरोधी बातें करता था वह शादी के बाद उसे कम दहेज देने के लिए परेशान करने लगा और मारपीट तक कर डाली।

वह उसे मायके से रुपए लाने के लिए कहता है और रुपए लाकर देने के बावजूद भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। यहां तक कि लड़की ने ससुराल पक्ष पर भी मारपीट के आरोप लगाए हैं। गांव जंडोली (चब्बेवाल) की गुरप्रीत कौर ने 14 मई को एसएसपी होशियारपुर को दहेज प्रताड़ना की शिकायत दर्ज कराई। शनिवार को थाना चब्बेवाल में पुलिस ने उसके पति गांव कंगनीवाल (जालंधर) के मंदीप नर पर मामला दर्ज किया है।

गुरप्रीत ने बताया कि वह एमएससी फिजिक्स है। वह बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और दहेज जैसे मामलों को लेकर फेसबुक पर एक्टिव रहती थी। तब मंदीप नर फेसबुक पर उसका म्यूचुअल फ्रेंड था। वह उसको कहा करता था कि वह भी उसी की तरह दहेज का विरोध करता है। मंदीप भी फेसबुक पर दहेज विरोधी और पॉजीटिव पोस्ट डालता। इससे दोनों में नजदीकियां बढ़ीं और 15 फरवरी 2017 को दोनों ने शादी कर ली। शादी वाले दिन ही उसे पता चला गया कि मंदीप सिर्फ बातें ही करना जानता है जबकि असल में पूरा ससुराल पक्ष दहेज का लोभी है। क्योंकि जब वह बारात लेकर आए तो दूल्हे की मां ने गहनों की मांग कर दी। उसके पिता ने इज्जत की खातिर एक लाख रुपए कैश ससुराल वालों को दिए। शादी के बाद पति मंदीप और ससुराल वाले और ज़्यादा दहेज मांगने लगे। मायके वालों ने उनकी मांग पूरी भी की लेकिन ससुराल वालों की भूख जारी ही रही। इस दौरान मंदीप विदेश चला गया।

गुरप्रीत ने बताया कि जुलाई 2017 में उसने पुलिस में शिकायत कर दी। इस पर पति विदेश से लौट आया और उसे बहला-फुसलाकर शिकायत वापस करवा ली और दोनों पति-पत्नी आदमपुर में रहने लगे। वहां आने के बाद पति कोई काम नहीं करता था। जिसके चलते वह घर पर ही बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने लगी लेकिन पति को इससे भी दिक्कत होने लगी थी। एक दिन ससुराल वालों ने आदमपुर आकर उसकी पिटाई की और अगस्त 2017 में उसे घर से निकाल दिया। इस पर वह मायके आकर रहने लगी। कुछ रिश्तेदारों ने समझौता करवाने की भी काफी कोशिश की लेकिन ससुराल वाले नहीं माने। आखिर उसे मई में वुमेन सेल होशियारपुर को शिकायत कर दी। इसकी जानकारी ससुराल वालों को मिली तो पति ने 12 मई को कुछ गुंडों के साथ मिलकर मायके आकर मारपीट की और शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया। गांव के कुछ लोगों ने बीच बचाव किया। इस मामले की शिकायत भी थाना चब्बेवाल में दर्ज हो गई। गुरप्रीत ने बताया कि पुलिस को दी शिकायत में सास, जेठ-जेठानी और ननद का भी नाम था लेकिन पुलिस ने उन सभी पर केस दर्ज नहीं किया। अब वह कोर्ट जाएगी। उसका पति भी विदेश भाग गया है। वह अपील करती है पुलिस मंदीप को वापस लाए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.