Loading...

कुंभ मेले में 17 रुपए किलो चीनी देगी योगी सरकार, आटा-चावल ही होगा काफी सस्ता

0 19

उत्तर प्रदेश में अगले महीने से पवित्र कुंभ मेले की शुरुआत होने जा रही है। ऐसे में यूपी सरकार पर इसको अच्छे ढंग से और बिना किसी परेशानी से संपूर्ण एवं सफल कराने का प्रेशर भी होगा ही।

दरअसल अगले माह शुरू हो रहे कुंभ मेले यानि की Kumbh 2019 को सफल बनाने के लिए राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपनी कमर कस ली है।

यूपी सरकार इस बार कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है और इसलिए सरकार ने कल्पवासियों को बेहद सस्ती दरों पर राशन उपलब्ध कराने का निर्णय कर लिया है.

बता दें कि 55 दिन तक चलने वाले इस मेले में कल्पवास करने वाले श्रद्धालुओं को सरकार 17 रुपये प्रति किलो की दर से चीनी उपलब्ध कराएगी.

Loading...

वहीं इसके अलावा आटा और चावल भी सस्ती दरों पर मिलेगा. साथ ही मेला स्थल में अमूल और मदर डेयरी द्वारा 48 मिल्क बूथ भी लगाए जा रहे हैं.

इस संबंध में उत्तर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अपने विचार रखे हैं। सुरेश ने बताया है कि ‘कुंभ मेले में कल्पवासियों के लिए दो महीने के लिए डेढ़ लाख अस्थायी राशन कार्ड बनेंगे. इस राशन कार्ड पर एक यूनिट पर 3 किलो आटा और दो किलो चावल मिलेगा.

इसके अलावा चीनी और मिट्टी का तेल भी दिया जाएगा. मेले में चीनी 17 रुपये किलो मिलेगी.’ कुंभ में दूध की कमी न हो इसके लिए 48 मिल्क बूथ बनाए जा रहे हैं साथ ही खाने के 40 स्टॉल भी शुरू किए जाएंगे.

उत्तर प्रदेश सरकार ने यह भी बताया है कि कुंभ के दौरान कल्पवासियों को चावल-आटा, राशन, चीनी, मिट्टी का तेल और गैस के लिए कुल 31.10 करोड़ रुपए की सब्सिडी दी जाएगी.

मालूम हो कि सरकार कुंभ मेले के लिए 7834 मीट्रिक टन गेहूं, 5384 मीट्रिक टन चावल और 3174 मीट्रिक टन चीनी मुहैया कराई जा रही है. इस सामग्री को बेहद घटी दरों पर श्रद्धालुओं को दिया जाएगा.

बता दें कि लोगों को रसद की आसानी से आपूर्ति हो, इसलिए खाद्य एवं रसद विभाग मेला परिसर में छह डिपो बनाएगा. ये भी बता दें कि इसके साथ ही करीब 50 सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इस व्यवस्था की देखरेख के लिए तैनात किया जा रहा है.

यानि साफ है कि योगी आदित्यनाथ की सरकार ने कुंभ मेले की पूरी तैयारी कर ली और वो कोई भी कमी नहीं छोड़ना चाहती इस महा पवित्र अवसर को लेकर.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.