Loading...

बिना शर्ट के 20 डिग्री में ट्रेनिंग कर रहे हैं सेना के ये जवान, जमा देने वाली इस ठंड में ऐसा है इनका जज्बा

0 17

सर्दी का मौसम आ चुका है लोग अपने घरों में दुबक के बैठे हुए हैं। कहीं चौराहों पर अलाव जल रहे हैं तो कुछ अपने घर ही में हीटर जलाकर बैठे हुए हैं कई लोग तो सर्दियों में कई कई दिन तक नहाते ही नहीं है।

वहीं दूसरी ओर दुनिया की कुछ ऐसी सेनाएं हैं जो शून्य से 20-30 डिग्री नीचे भी दिलदहला देने वाली ट्रेनिंग करती हैं। ये तस्वीर ऐसी ही एक एक्सरसाइज की है। येओंगचेंज माउंटेन पर अमेरिका और साउथ कोरिया के सैकड़ों नौसैनिक कुछ ऐसी ट्रेनिंग कर रहे है।

इन शर्टलेस सैनिकों को देखकर अगर ऐसा सोच रहे है कि मौसम बिल्कुल साफ है, मगर ऐसा है नही बल्कि यहां -20 डिग्री में जमी बर्फ की वजह से ऐसा नजारा दिख रहा है। यह हर साल भारी बर्फबारी के बीच ऐसी ही मरीन एक्सरसाइज की जाती है।

Loading...

सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि ये कोरियन मैरिन एक्सरसाइज प्रोग्राम का हिस्सा है। इसमें 220 साउथ कोरिया के और 220 ओकिनावा के सैनिक भाग लेते हैं। साल 2013 में शुरू हुई इस ट्रेनिंग में यहां के सैनिकों को कम तापमान के बीच यूद्ध कौशल के तरीके सिखाने के लिए दी जाती है। इस दौरान इनका हौसला देखने लायक होता है।

-20 डिग्री टेम्परेचर के बीच जहां चमड़ी भी जमने लगती हैं। ऐसे में ये सैनिक बीच-बीच में रूक रूकर बिना शर्ट पहने पुश अप्स करते हैं। इस तरह वे अपने शरीर को लगातार गर्म बनाए करते हैं। इतने खराब मौसम के बीच इन सैनिकों के चेहरों पर तनाव जरा भी दिखाई नहीं देता, बल्कि वे अपनी ट्रेनिंग को खुशी से पूरा करते हैं और घुसपैठियों के लिए चेतावनी बने रहते है।

बर्फ में इन सैनिको को घुसपैठियों को ढूंढने के लिए परीक्षण दिया जाता है। इसमें बर्फ से लुढ़कने, पहाड़ों से नीचे उतरने, चढ़ने और सफेद बर्फ पर चढ़ने तरीका शामिल है। एक्सपर्ट बताते हैं कि बिना शर्ट ट्रेनिंग कराने के पीछे का मकसद जवानों को इन कठिन परिस्थितियों में ज्यादा से ज्यादा सहनशील बनाना होता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.