Loading...

सफदरजंग अस्पताल में जिंदा जलाई गई लड़की ने तोड़ा दम, पेट्रोल डालकर सिरफिरे ने कर दिया था आग के हवाले

0 23

सरकार बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नारा देकर बेटियों को समाज में बराबरी का स्थान देने में लगी है। तो वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो आज भी बेटियों को अपना गुलाम बना कर रखना चाहते हैं। उत्तराखंड के पौड़ी जिले में एक लड़की जिसे जलाने की कोशिश की गई थी। वह लगातार 7 दिनों तक जिंदगी और मौत की मौत की जंग लड़ती रही और आखिर में जिंदगी की जंग को हार गई। रविवार को जिंदा जलाई गई लड़की ने सफदरगंज अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। परिवार ने बताया कि लड़की की मौत सुबह 11:00 बजे के करीब हुई है।

बता दें कि पिछले रविवार को छात्रा जब अपनी परीक्षा देकर लौट रही थी। तब भी गहड़ गांव के ही रहने वाले मनोज सिंह उर्फ बंटी ने छात्रा के साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की इसमें सफल ना हो पाने के बाद मनोज ने छात्रा के ऊपर पेट्रोल डालकर उसे जला दिया और वह वहां से फरार हो गया।

इसी दौरान मौके से गुजर रहे एक ग्रामीण ने जब छात्रा को जली हुई हालत में देखा तो उसने तुरंत इस बात की सूचना पुलिस को दी।

पुलिस को जैसे ही इस घटना की सूचना मिली पुलिस ने तुरंत 108 एंबुलेंस की मदद से छात्रा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। प्राथमिक उपचार के बाद छात्रा को श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में रिफर कर दिया था।

Loading...

छात्रा को इसके बाद एम्स ऋषिकेश भी रेफर किया गया था। जहां से उसे सफदरगंज अस्पताल दिल्ली रेफर कर दिया था। जहां पर आज छात्रा ने दम तोड़ दिया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.