Loading...

भारत में तेज़ी के साथ हो रही अमीरों की संख्या में वृद्धि, इस मामले में पूरी दुनिया है पीछे

0 17

भारत देश अभी भी कई लोग गरीबी रेखा के नीचे रहते हैं। कई लोगो के पास खुद का तो छोड़िए किराए के घर में रहने के लिए भी पैसे नहीं है।

हालांकि इन सब को देखते हुए भी आप भारत को गरीबों का देश कहने की भूल न करिएगा। जी हां, भारत में गरीब तो बहुत हैं लेकिन अमीर भी कुछ कम नहीं है। भारत देश में अमीरों की संख्या अब साल दर साल बढ़ती जा रही है।

दरअसल भारत में अमीरों की संख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है. यकीन न हो तो कुछ आंकड़ो वे एक नज़र डाल लीजिए। दरअसल साल 2016 में भारत में अमीरों की संख्या 2,84,140 थी।

और अब एक अनुमान के मुताबिक इन अमीरों की संख्या साल 2021 तक 86% बढ़ सकती है। जी हां, इसका मतलब ये हुआ की साल 2021 तक अमीरों की संख्या 86% बढ़कर 5 लाख से ऊपर पहुंच सकती है.

Loading...

एक और दिलचस्प बात ये है कि भारत में सिर्फ अमीरों की संख्या में इजाफा नहीं हो रहा है बल्कि इनकी संपत्ति में भी तेजी से बढ़ोतरी हो रही है.

आईआईएफएल वेल्थ मैनेजमेंट इंडेक्स 2018 के जरिए किए गए अध्ययन में यह अनुमान लगाया गया है.

संपत्ति में हो सकता है दोगुना इज़ाफा

सम्पत्ति के मामले में भी एक लंबी छलांग लगने की संभावना है। जी हां आपने सही पढ़ा, दरअसल एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2016 में देश में अमीरों के पास कुल 95 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति थी.

अब नए अध्ययन के मुताबिक ये माना जा रहा है कि वर्ष 2021 तक यह आंकड़ा दोगुना बढ़ जाएगा यानि की ये आंकड़ा दोगुना होकर 188 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा.

भारत के कारोबारी हैं उद्यमी

जानकारी के लिए बता दें कि करीब 87 % बेहद अमीर भारतीय कारोबारी मालिक और उद्यमी हैं. इस मामले में भारत दुनिया का औसत 52 % है.

आईआईएफएल वेल्थ मैनेजमेंट के सीईओ करण भगत ने कहा, “भारत में अमीरों की संख्या बीते पांच सालों में 40 प्रतिशत की दर से बढ़ी है, जो दुनिया के औसत से काफी ज्यादा है.”

कुछ को मिली विरासत में तो कुछ ने बनाई अपने दम पर संपत्ति

बता दे की इस विश्लेषण में एक और दिलचस्प आंकड़ा पाया गया है। जी हां दरअसल एक आंकड़े के मुताबिक भारत में 55 % बेहद अमीर लोगों को सारी संपत्ति विरासत मे मिली है जबकि दुनिया भर में में यह आंकड़ा औसतन 34 % है.

वहीं खुद के दम पर भाग्य बनाने वालों में भारत थोड़ा पीछे है। भारत में जहां 45 % भारतीयों ने अपने दम पर संपत्ति बनाई है तो वहीं दुनिया में ये आंकड़ा 66 % का है। मतलब दुनिया के इतने प्रतिशत अरबपतियों ने खुद के दम पर विशाल संपत्ति खड़ी करी है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.