Loading...

कांग्रेस की कर्जमाफी का मोदी सरकार ने निकाला ये तोड़, किसानों को लुभाने के लिए आएगी ये योजना

0 27

तीन राज्यो के चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस अब फ्रंट फुट पे खेल रही है। और आते ही कोंग्रेस ने कर्ज माफी का एलान भी कर दिया। लेकिन लगता है बीजेपी ने कोंग्रेस की इस रणनीति से निपटने के लिए एक नया फॉर्मूला तैयार कर लिया है.

जी हां, दरअसल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अगर कोई किसान अपना अनाज सरकारी कीमत से कम में बेचते हैं तो सरकार स्वयं उस अंतर की भरपाई करेगी.

मतलब साफ है कि अगर कोई किसान अपनी फसल को एमएसपी के नीचे बेचता है तो एमएसपी और फसल की कीमत में अंतर के पैसों को सरकार सीधे किसानों के खातों में ट्रांसफर करेगी.

क्या है नई योजना

Loading...

नई योजना के तहत सरकार एमएसपी से नीचे अपनी फसल को बेचने वाले किसानों के खातों में पैसे ट्रांसफर करेगी. हालांकि इसके लिए किसानों को रसीद दिखानी होगी.

इसमें एक और ख़ास बात ये है कि ये स्कीम को पिछले खरीफ सीजन से लागू किया जाएगा यानी किसान पुरानी रसीद दिखाकर भी पैसे पा सकते हैं.

आगे का ये है प्लान

जानकारी के लिए बता दें कि इस संबंध में सरकार ने किसानों के खातों की डिटेल लेनी शुरू कर दी है. इस प्रयास में अभी तक कई किसानों के खातों की जानकारी सरकार को मिल चुकी है.

इसके अलावा सरकार ये भी विचार कर रही है कि किसानों द्वारा दिखलाई गई रसीद की ऑथेंटिकेशन कैसे होगी।

इस स्कीम के लाने के पीछे क्या है वजह

सूत्रों के मुताबिक इस प्रस्ताव को लाने के पीछे दो वजह मानी जा रही है. एक तो इस स्कीम को कोंग्रेस द्वारा राज्यों में किसान की कर्जमाफी के जवाब में इसे लाया जा रहा है. साथ ही दूसरा पहलू ये है कि किसानों के मुद्दे पर अब सरकार के ऊपर अगले साल होने वाले आम चुनावों का दबाव भी है.

ऐसे में सरकार कोई रिस्क नहीं लेना चाहती. दूसरा एमएसपी को लेकर की गई घोषणाओं को लागू होने में लंबा समय लग सकता है इसलिए भी सरकार इस ओर तेजी से कदम बढ़ाना चाहती है ताकि अगले वर्ष आने वाले आम चुनावों से पूर्व ही किसानों का भरोसा और विश्वास दोनों मानकों पर सरकार खरी उतर जाए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.