Loading...

अब सड़कों पर दौड़ता हुआ नजर आएगा कमाल की खूबियों वाला ये इको फ्रेंडली ई-रिक्शा Super King

0 33

इलेक्ट्रिक एक्सपो देखने का आगर आपका मन है तो आप दिल्ली के प्रगति मैदान में जा सकते हैं। यहाँ पर एक इको-फ्रेंडली इलेक्ट्रिक एक्सपो 2018 लगा हुआ है। इसमें कई लोग आ रहे हैं और इलेक्ट्रिक एक्सपो का अनुभव ले रहे हैं।

इसी इलेक्ट्रिक एक्सपो में एक ई-रिक्शा जिसका नाम Super king रखा गया है लॉन्च हुआ है। ये लॉन्चिंग ख़ास रही क्योंकि इस दौरान केंद्रीय मंत्री गंगा राम गीते मौजूद रहे।

बता दें कि ई-रिक्शा Super King देश की प्रमुख ई-रिक्शा निर्माता कंपनी गोयनका इलेक्ट्रिक मोटर व्हीकल लिमिटेड (जीईएम) का एक प्रोडक्ट है।

इस ई-रिक्शा की लॉन्चिंग के दौरान कंपनी ने ये ऐलान किया कि उसकी ओर से निर्माण क्षमता को बढ़ाने के लिए एक साल में 35 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा।

Loading...

ये है अफ्रीका को ई-रिक्शा का निर्यात करने वाली पहली कंपनी

बता दें कि कंपनी की मौजूदा निर्माण क्षमता सालाना 40 हजार ई-रिक्शा की है। कंपनी को हाल ही में एसेल इंफ्राटेक से 500 ई-रिक्शा का ऑर्डर मिला है।

साथ ही यह अफ्रीका को ई-रिक्शा का निर्यात करने वाली पहली कंपनी है। मालूम हो कि इस कंपनी के 250 व्हीकल केंद्र सरकार ने सेनेगल की सरकार को गिफ्ट में दिए थे।

ऑटो की तुलना में है 40% सस्ते

जानकारी के लिए बता दें कि जीईएम वाहनों की कीमत एक ऑटो की तुलना में 40 % कम है। दरअसल ऐसा इसलिए है क्योंकि इस कंपनी के वाहन एक तो वजन में हल्के हैं साथ ही इनकी बैटरी लाइफ मार्किट में मौजूद बाकी ई-रिक्शा से बेहतर है।

दरअसल ऑटो में आसानी से गर्म होने वाला और आग पकड़ने में सक्षम इंजन लगा होता है, जबकि जीईएम व्हीकल हलकी बैटरी से चलते हैं।

गोयनका कंपनी के सीईओ जफर इकबाल ने कहा, “जीईएम का इनोवेशन में विश्वास है और हम भारत में इलेक्ट्रिकल व्हीकल के निर्माण में हम अग्रसर हैं।”

इकबाल ने आगे कहा कि, “अब ई-रिक्शा के क्षेत्र में हमारी एंट्री होने के साथ हम देश में 150 डीलरों के माध्यम से हम अपने प्रॉडक्ट ग्राहकों को उपलब्ध करा रहे हैं। आने वाले साल में हम अपने नेटवर्क में 200 नए डीलर और जोड़ने जा रहे हैं।”

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.