Loading...

अमेजन के स्वर्ण मंदिर वाले टॉयलेट सीट और पायदान पर भड़का सिख समुदाय, बोला: माफ़ी मांगे अमेजन

0 22

सिखों के सबसे पावन धार्मिक स्थल स्वर्ण मंदिर की तस्वीर वाली पायदान, कालीन आदि को बेचे जाने से सिख धर्म के लोग बहुत आहत हैं एवं नाराज़ हैं।

ये हरकत अमेजन पर हुई है। इस संबन्ध में शिराेमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटि (एसजीपीसी) की शिकायत पर पुलिस ने ई-काॅमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

दरअसल सिख कोएलिशन ने अपने एक बयान में कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि कुछ विक्रेता अमेजन पर स्वर्ण मंदिर की तस्वीर के साथ पायदान, कालीन और टॉयलेट सीट कवर बेच रहे हैं। इससे सिख समुदाय के लोगों में काफी नाराज़गी है।

Loading...

उन्होंने अमेजॉन के सीईओ जेफ बेजोस एवं वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं जनरल काउंसल डेविड जेपोल्सकी को इस मामले में एक पत्र लिखा है।

मालूम हो की अब इस विषय को लेकर कंपनी को एक कानूनी नोटिस भी जारी किया गया है जिसमें यह कहा गया है कि वे अपने वेबसाइट से इस उत्पाद को हटाए और सिखों से माफी मांगे। इस शिकायत के बाद अमेजन ने इन पायदानों की ब्रिकी वाले पेज को हटा लिया है।

अमेरिकी सिख संगठन ने भी दर्ज की आपत्ति

इस मामले पर अमेरिका के सिख संगठन सिख कोएलिशन ने आपत्ति दर्ज कराई है। उन्होंने सांस्कृतिक रूप से अनुचित और अपमानजनक उत्पाद हटाने की मांग की है।

यहां हम बता दें कि अमेजन की तरफ से ऐसा पहली बार नहीं हुआ है दरअसल इससे पहले भी कई विवादित प्रोडक्ट की बिक्री को लेकर अमेजॉन विवादों में रहा है।

इससे पहले भारतीय झंडे के तिरंगे जैसा पायदान बेचने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अमेजॉन के खिलाफ सख्त रुख अपनाया था। और विश्व भर में बसे भारतीयों ने अमेजन की इस विषय में निंदा की थी।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी जताई आपत्ति

इस मामले में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी घोर आपत्ति दर्ज की है। उन्होंने एक ट्वीट करते हुए कहा कि “मैं इस हरकत की कड़ी निंदा करता हूँ। इस हरकत से विश्व भर में फैले सिख समुदाय को ठेस पहुंची है। इस संबंध में अमेजन को तुरंत कार्यवाही करके माफ़ी मांगनी चाहिए।”

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.