Loading...

जहीर खान उतरे कोहली के समर्थन में, बोले- एग्रेशन कम करने की ज़रूरत नहीं, लोगों का बोलना मायने नहीं रखता

0 12

वर्तमान कप्तान विराट कोहली एक तरफ ऑस्ट्रेलिया से बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का दूसरा टेस्ट मैच हार गए हैं वहीं दूसरी तरफ उनके मैदान में व्यवहार को लेके ऑस्ट्रेलियन मिडिया उनपर लगातार आक्रमण कर रही है।

साथ ही कई पूर्व कंगारू खिलाड़ी भी कोहली के रवैये को लेके उनकी आलोचना कर रहे हैं। ऐसे में पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज जहीर खान और प्रवीण कुमार ने विराट कोहली का बचाव किया है।

जहीर खान ने अपने मैदानी व्यवहार के कारण ऑस्ट्रेलियन दिग्गजों की आलोचना झेल रहे भारतीय कप्तान विराट कोहली का बचाव करते हुए कहा कि वह जैसे हैं उन्हें वैसा ही रहना चाहिए।

बता दें कि कोहली की आलोचना करने वालों में पूर्व कंगारू कप्तान एलन बॉर्डर, माइक हसी, मिशेल जॉनसन शामिल हैं। यही नहीं भारत के संजय मांजरेकर ने भी कोहली के मैदानी व्यवहार पर नाराजगी जताई है।

Loading...

इस मामले में लेफ्ट आर्म पेसर जहीर खान कहा, ”मेरे हिसाब से विराट को जो सबसे अच्छा लगता है वे उस पर कायम रहें। आपको जिसमें सफलता मिलती है आपको वही करना चाहिए। आपको सफलता के अपने फार्मूले से नहीं हटना चाहिए। यह मायने नहीं रखता कि बाकी क्या कह रहे हैं।”

वहीं पूर्व भारतीय गेंदबाज प्रवीण कुमार ने भी जहीर से सहमति जताते हुए कहा कि, ” मैं कोहली को पहले से जनता हूँ। वो अंडर-16, अंडर-19 और रणजी ट्रॉफी स्तर से ही आक्रामकता के साथ खेलते रहे हैं। अगर वह भारत की तरफ से खेलते हुए वही आक्रामकता दिखा रहे हैं तो इसमें क्या बुराई है। मैंने उसके साथ काफी क्रिकेट खेली है और मैं कह सकता हूं कि वह आक्रामकता के बिना अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेल सकते।”

हालांकि इस पुरे वाक्ये में ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लेंगर ने कोहली की आलोचना नहीं की है। बल्कि उन्होंने तो कोहली का समर्थन ही किया है।

उन्होंने कहा कि “दूसरे टेस्ट में भारत का आक्रामक रवैया मुझे पसंद आया। में समझता हूँ कि विराट कोहली और टिम पेन के बीच बहस हास्यपूर्ण थी, अपमानजनक नहीं।”

मालूम हो कि भारतीय कप्तान कोहली ऑस्ट्रेलियाई कप्तान पेन को मैदान पर कई मौकों पर बहस करते हुए एवं भिड़ते हुए देखा गया। सिर्फ इतना ही नहीं इस दौरान एक समय तो वे शारीरिक संपर्क के बेहद करीब पहुंच गए थे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.