Loading...

घंटों बैठकर काम करने से शरीर ने हो सकते हैं ये बड़े बदलाव

0 11

पूरे दिन ऑफिस में गलत मुद्रा में लगातार 4-5 घंटे तक बैठे रहने से कमर दर्द की समस्या हो सकती है। इसलिए बैठने की मुद्रा पर और अपनी शारीरिक गतिविधि पर अच्छे से ध्यान दें। ये आपके लिए बहुत ही आवश्यक है। हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (HCFI) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल का ये कहना है कि आज के समय में करीब 20 फीसदी युवाओं को 16 से 34 वर्ष में ही पीठ में और रीढ़ की हड्डी में प्रॉबलम हो रही है।

आपको बता दें कि डॉ. के.के. अग्रवाल का कहना है कि ‘एक ही स्थिति में लंबे समय तक बैठने से पीठ की मांसपेशियों और रीढ़ की हड्डी पर भारी दबाव पड़ सकता है। इसके अलावा, टेढ़े होकर बैठने से रीढ़ की हड्डी के जोड़ खराब हो सकते हैं और रीढ़ की हड्डी की डिस्क पीठ और गर्दन में दर्द का कारण बन सकती है। लंबे समय तक खड़े रहने से भी स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है।’ तो आइए आज जानते हैं कौन-कौन सी हो सकती हैं दिक्‍कतें?

 आज की व्‍यस्‍त लाइफस्‍टाइल में घंटों- घंटों बैठना आम बात है. दिन में नौ-नौ घंटे ऑफिस में लोग एक ही मुद्रा में बैठे रहते हैं लेकिन क्‍या आप जानते हैं? लोगों के बैठने की ये आदत उन्‍हें बीमार कर रही हैं. उन्‍हें तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. आइए जानते हैं कौन-कौन सी हो रही हैं दिक्‍कतें?
एक ही पोजीशन में लगातार बैठने से पीठ की मांसपेशियों और रीढ़ की हड्डी पर भारी दबाव पड़ता हैं

 दरअसल एक ही स्थिति में लंबे समय तक बैठने से पीठ की मांसपेशियों और रीढ़ की हड्डी पर भारी दबाव पड़ सकता है.

बता दे टेढ़े होकर बैठने से रीढ़ की हड्डी के जोड़ खराब हो सकते हैं और रीढ़ की हड्डी की डिस्क पीठ और गर्दन में दर्द का कारण बन सकती है |

Loading...

 इसके अलावा, टेढ़े होकर बैठने से रीढ़ की हड्डी के जोड़ खराब हो सकते हैं और रीढ़ की हड्डी की डिस्क पीठ और गर्दन में दर्द का कारण बन सकती है.

ज्यादा देर तक खड़े होने पर इस तरीके की समस्याएं हो सकती हैं।

 लंबे समय तक खड़े रहने से भी स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है.

बता दे शरीर को सीधा रखने के लिए मांसपेशियों की ताकत की आवश्यकता होती है। लंबे समय तक खड़े रहने से पैरों में रक्त की मात्रा बढ़ जाती है और रक्त के प्रवाह में रुकावट आती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.