Loading...

बहन ने डांटा तो भाई ने उसके 3 साल के बेटे को रस्सी में बांध हाथ-पैर तोड़कर, पत्थर से कुचलकर झाड़ियों

0 40

एक भाई बहन का रिश्ता कितना अनमोल और प्यारा रिश्ता होता है। लेकिन आज हम जो आपको बताने जा रहे हैं उसे सुनकर आपकी रुह कांप जाएगी। एक भाई को बहन के सिर्फ डांट देने से इतना गुस्सा आया कि उसने अपने 3 साल के इकलौते भांजे को बड़ी ही बेरहमी से मार डाला। ये मामला बुधवार का है।

बच्चे के शव को ले जाते हुए परिजन।

उसने भांजे को पहले सुनसान जगह ले जाकर उसके हाथ-पैर तोड़ दिए जिसके बाद पत्थर से बुरी तरह उसे कुचला। जिसके बाद इत्मीनान हो गया कि उसकी जान निकल गई। जिसके बाद उसने शव को झाड़ी में फेंक दिया और फरार हो गया। बता दें कि अपने इकलौते बेटे का शव देख उसकी मां बदहवास हो गई। इसके अलावा बेटे का शव गोद में लेकर के पिता पूरे समय दहाड़े मारकर रोता रहा, जबकि मां और बहन बदहवास थी। बता दें कि बच्चे की बॉडी गुरुवार को बरामद हुई।

बच्चे की मौत के बाद रोते-बिलखते माता-पिता और परिजन।

आपको बता दें कि कदमा थाना के पास रामजनमनगर रोड नंबर 6 में रहने वाले धर्मेंद्र मिश्रा के घर पर 15 दिसंबर को उनके बेटे के तीसरे जन्मदिन की तैयारियां चल रही थी।लेकिन उसके ही साले की वजह से मिश्रा परिवार की सारी खुशियां छिन गईं। धर्मेंद्र के 3 साल के बेटे शुभम शौर्य को उसके 22 वर्षीय मामा आशुतोष झा उर्फ अनिकेत उर्फ मुन्ना ने बड़ी ही बेदर्दी से मार डाला।

Loading...

jamshedpur news relative killed 3 year old son and threw body in bushes

इस घटना के बारे में मृतक की मां शारदा मिश्रा उर्फ रजनी ने जानकारी दी है कि बुधवार दोपहर करीब 1 बजे जब मुन्ना घर आया था। पति के साथ खाना खाने के बाद मुन्ना उनके बेटे शुभम के साथ उनके कमरे में बैठा था। पति के ड्यूटी चले जाने के बाद वह घर के कामों में बिजी हो गई। जिसके थोड़ी देर बाद शुभम के रोने की आवाज आई तो उसने मुन्ना को कह कि बच्चे का तुम थोड़ा सा भी ख्याल नहीं रख सकते हो। शुभम को मुन्ना ने चांटा मारा था। लेकिन पूछने पर उसने इससे इनकार कर दिया। शुभम ने कहा कि मामा ने चांटा मारा है। इस बात से उसे बुरा लगा था। जिसके बाद शाम को करीब 6 बजे मुन्ना कुरकुरे दिलाने के बहाने शुभम को ले गया। लेकिन आधे घंटे बाद जब शुभम नहीं आया तो फिर उसकी खोज शुरू की।

मृकत बच्चा शुभम और आरोपी मामा आशुतोष।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट किया शॉक्ड…

पोस्टमॉर्टम के मुताबिक, बच्चे को बांधकर उसके पेट और सिर व कई अन्य अंगों पर प्रहार किया गया। उसके पेट पर ईंट-पत्थर से मारा गया था, जिससे वहां पर खून जमने से नीला निशान बन गया था। इस कदर मासूम पर प्रहार किया गया कि उसकी दोनों आंखों से भी खून की धारा बह निकली थी। इसके साथ ही उसका एक हाथ भी तोड़ दिया गया था। पुलिस ने घटना स्थल से 4 पत्थर भी बरामद किए हैं।

jamshedpur news relative killed 3 year old son and threw body in bushes

धर्मेंद्र मिश्रा के मुताबिक, उसने अपने इकलौते भांजे की हत्या करने के बाद गुरुवार सुबह करीब 10 बजे अपनी भाभी अनुप्रिया को फोन कर बताया कि ‘देख लिया ना सब, हम क्या कर सकते हैं? ले लिए अपना बदला। जो भी तिरस्कार करता है, उससे बदला लेंगे।’

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.