Loading...

राफेल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया विपक्ष को झटका, सभी याचिकाएं की ख़ारिज

0 15

राफेल डील की जांच पर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से विपक्ष को करारा झटका लगा है। दरअसल राफेल सौदे की जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट तैयार नहीं है।

सर्वोच्च अदालत ने शुक्रवार को राफेल सौदे की जांच की मांग वाली

याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए ये फैसला लिया। कोर्ट ने कहा कि राफेल सौदे में निर्णय लेने की प्रक्रिया पर शक नहीं किया जा सकता और शक करने की कोई वजह नहीं है।

Loading...

सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि ये अदालत का काम नहीं है कि वो राफेल लड़ाकू विमानों की कीमत पर फैसला ले। ये सरकार का काम है।

सुनवाई के दौरान सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा, “इस प्रक्रिया पर संदेह करने की कोई ज़रूरत नहीं है. हम सरकार को 126 विमान खरीदने पर बाध्य नहीं कर सकते। साथ ही इस मामले के सभी पहलुओं की जांच कोर्ट की देखरेख में कराना सही नहीं होगा।

वहीं इस मामले पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी और बोले, “शुरुआत से यह बिल्कुल साफ मामला था। हम लगातार कह रहे थे कि कांग्रेस द्वारा लगाए जा रहे आरोप निराधार हैं। और वो सिर्फ राजनीती करने के उद्देश्य से लगाए गए हैं।

वैसे जानकारी के लिए बता दें कि राफेल सौदे के मामले में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए सबसे प्रथम याचिका वकील मनोहर लाल शर्मा ने दायर की थी। इसके बाद, एक और वकील विनीत ढांडा ने ऐसी याचिका दायर की थी और वो चाहते थे कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इस सौदे की जांच हो।

बता दें कि राफेल सौदे को लेकर आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने भी याचाकि दायर की थी। इसके बाद बीजेपी के ही दो पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा और अरूण शौरी ने साथ ही में अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने एक अलग याचिका दायर की थी। ये चाहते थे कि सुप्रीम कोर्ट इस मामले की जांच करे।

आंनद शर्मा बोले मोदी सरकार को खुश होने की ज़रूरत नहीं

इस पर कोंग्रेस के प्रवक्ता आंनद शर्मा का भी बयान आया है। उनका कहना है कि “मोदी सरकार को इस पर खुशी मनाने की कोई ज़रूरत नहीं है। आदरणीय सुप्रीम कोर्ट ने उनको क्लीन चिट नहीं दी बस ये कहा है कि वो इस मामले में नहीं पड़ सकते।”

इस फैसले का स्वागत करता हूँ, मुझपे बेवजह के इल्जाम लगाए गए: अनिल अंबानी

सुप्रीम कोर्ट के राफेल मुद्दे पर आए फैसले का अनिल अंबानी ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा, “मैं इस फैसले का स्वागत करता हूँ। आज सुप्रीम कोर्ट ने सभी याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया है। मेरी कंपनी और मुझपे जो झूठे इल्जाम लगाए गए थे उन पर भी अंकुश लगाया है।”

अब ये तो साफ़ है कि मोदी सरकार को घेरने की योजना बना रहे विपक्ष को सुप्रीम कोर्ट ने एक करारा झटका दे दिया है अब ऐसे में आगे इस कहानी में राजनीती क्या क्या मोड़ लेके आती है ये तो देखने वाली बात होगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.