Loading...

200, 500, 2000 के नए नोटों की हो सकती है अब वापसी, जाने नए नियम

0 25


भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने बैंक अधिनियम की नियमावली 2009 में कुछ संशोधन किया है। इस संशोधन से अब नोटों वापसी की का रास्ता खुल गया है।

दरअसल नोटबंदी के पश्चात देश में नई करेंसी के तौर पर 200, 500 और 2000 के नए नोट जारी किए गए थे। हालांकि इन नोटों को कोई बैंक विकृत (डैमेज कंडीशन) रुप में लेने को राजी नहीं होता था। जिस वजह से लोग खासे परेशान थे।

दरअसल बैंक की ओर से दलील दी जाती थी कि आरबीआई की ओर से ही उन्हें ऐसा करने की इजाजत नहीं दी गई है। यानी की वो कोई नियम नहीं तोड़ रहे बल्कि नियमो का पालन ही कर रहे हैं।

लेकिन अब इस संशोधन से सारी दुविधाएं और परेशानी खत्म हो गई हैं। दरअसल इससे अब 200, 500 और 2000 के नए नोटों की वापसी का रास्ता निकल गया है। बता दें कि इन नए नोटों को RBI के सेक्शन 28 के तहत बदला जा सकता है।

वित्त मंत्रालय की क्लीयरेंस के बाद RBI ने जारी की थी गाइडलाइन

Loading...

दरअसल आरबीआई इस बात को समझ रहा था इसलिए उसने इस मामले में वित्त मंत्रालय को पत्र लिखकर नियमों को अपडेट करने की बात कही थी।

अब अच्छी बात ये है कि आरबीआई को इस मामले में वित्त मंत्रालय का क्लीयरेंस मिल गया है। बता दें कि अब आरबीआई की ओर से नई गाइडलाइन आ चुकी है। यानी कि अब नए नोटों को बिना किसी परेशानी के बदला जा सकता है।

आरबीआई के नए नियमो के मुताबिक नोट के डैमेज एरिया के हिसाब से एक्सचेंज रेट तय होगा।

50 रुपए के नोट के संबंध में नियम

50 के नए नोट का पूरा रिफंड उस हालात में मिलेगा, जब नोट का कम-से-कम 72 स्क्वायर सेंटीमीटर उपलब्ध कराया जाएगा,जबकि आधा रिफंड 36 स्कवॉयर सेंटीमीटर का एरिया उपलब्ध कराने पर मिलेगा।

100 रुपए के नोट के संबंध में नियम

100 रुपए के नए नोट का पूरा रिफंड तब मिलेगा, जबिक नोट का 92 sq mtr यानि की 92 स्क्वायर सेंटीमीटर का एरिया दिया जाएगा। वहीं कम-से-कम 46 स्क्वायर सेंटीमीटर का एरिया देने पर आधा रिफंड मिलेगा

200 रुपए के नोट के संबंध में नियम

अगर 200 रुपए नोट के वास्तविक आकार (96.36 स्क्वॉयर सेंटीमीटर) एरिया का 88 फीसदी यानी 78 स्क्वायर सेंटीमीटर हिस्सा देना होता है, तो नोट का पूरा रिफंड मिलेगा, जबकि आधार रिफंड तब पाने के लिए नोट न्यूनतम 39 स्क्वॉयर सेंटीमीटर एरिया देना होता है।

500 रुपए के नोट के संबंध में नियम

500 रुपए के नए नोट के वास्तिवक आकार 99 sq cm यानी कि 99 स्क्वॉयर सेंटीमीटर एरिया का कम-से-कम 80 sq cm यानि कि 80 स्क्वॉयर सेंटीमीटर एरिया देने पर पूरा रिफंड मिलेगा, जबकि 44 स्क्वॉयर सेंटीमीटर एरिया ठीक होने पर आधा रिफंड मिलेगा।

2000 के नोट के संबंध में नियम

2000 के नए नोट के कुल 109 sq mtr यानि की 109 स्क्वॉयर सेंटीमीटर एरिया में से 88 स्क्वॉयर सेंटीमीटर देने पर पूरा रिफंड मिलेगा, जबकि 44 स्कवॉयर सेंटीमीटर देने पर आधा रिफंड मिलेगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.