Loading...

बोले कुंबले- रविंद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना चाहिए

0 14

एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से मात दे दी है। और बॉर्डर-गावस्कर सीरीज़ में भारतीय टीम ने 1-0 की बढ़त बना ली है।

अब टीम इंडिया की नज़र 14 दिसंबर से पर्थ में शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट पे है जहां पर भारत यही चाहेगी की इस टेस्ट को भी वो जीत लें और सीरीज़ में 2-0 की बढ़त हासिल कर ले।

पहले टेस्ट की बात की जाए तो वैसे तो टीम इंडिया का प्रदर्शन काफी बेहतर था गेंदबाज़ी को मद्देनजर रखते हुए लेकिन मैच के आखिरी पलों में कप्तान कोहली भी टेंशन में आ गए थे जब ऑस्ट्रेलिया के पुछल्ले बल्लेबाज टिक गए थे और लक्ष्य के बेहद करीब पहुँचते जा रहे थे।

अब पर्थ टेस्ट के पहले टीम इंडिया को इन्हीं चीजों पर काम करने की जरूरत है। टीम चाहेगी की ऑस्ट्रेलिया के टेलेंडर्स उन्हें फिर से परेशान न करे। ऐसे में कुछ इसी तरीके के विषयों को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने अपने विचार रखे हैं।

Loading...

एक प्राइवेट न्यूज़ चैनल को दिए इंटरव्यू में कुंबले बोले कि पहले टेस्ट में टीम इंडिया ने स्पिनर के तौर पर अश्विन ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। उन्होंने मैच में कुल 6 विकेट झटके थे हालांकि दूसरी पारी में उन्हें विकेट झटकने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ा था।

दरअसल अनिल कुंबले का कहना है कि अब अगर ऐसे में टीम में बदलाव करने की जरूरत पड़ी तो वह रविंद्र जडेजा को टीम में लाना चाहेंगे। यानी की वो दो स्पिनरों को खिलाने की बात कर रहे थे।

बकौल अनिल कुंबले, “ये पर्थ की पिच है इसलिए मुझे कंडीशन के बारे में जानकारी नहीं है। अगर आपको लगे कि पिच पर स्पिन मिलेगी तो शायद ये सही विकल्प हो सकता है।”

कुंबले ने कहा, “आप ऐसे में रविंद्र जडेजा को ला सकते हैं जिन्होंने अपनी आखिरी पारी में इंग्लैंड के खिलाफ शतक बनाया था। वह एक अच्छे विकल्प हैं, वह गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी भी कर सकते हैं। ऐसे में वो दोनों लिहाज़ से टीम का सहयोग कर सकते हैं।”

वहीं दूसरी तरफ खराब फॉर्म से गुज़र रहे केएल राहुल पे भी इस पूर्व भारतीय कोच ने अपने विचार प्रस्तुत किए।

कुंबले ने कहा, “वह हाल फिलहाल में अच्छे फॉर्म में नहीं रहे हैं। वह एक पारी में रन बनाने के बाद वैसा स्कोर आगे के मैचों में नहीं बना पाए हैं और यही चीज़ उनके दिमाग में जरूर चल रही होगी। आज कल वह कुछ कन्फ्यूज दिखाई देते हैं।”

भारत के इस दिग्गज और पूर्व कोच ने आगे कहा कि, “उनके दिमाग ये बात बार-बार आ रही है कि उन्हें जाकर अपना नेचुरल गेम खेलना चाहिए जोकि थोड़ा आक्रामक है या फिर उनको रुक कर खेलना चाहिए जोकि टेस्ट क्रिकेट की आवश्यकता है।”

भारत के इस लेग स्पिनर ने आगे कहा कि, “ऐसे में केएल राहुल को आश्वस्त करने की जरूरत है कि वह आने वाले 3 मैचों में टीम इंडिया का हिस्सा रहेंगे। ताकि वह जैसे खेलना चाहते हैं खेलें। इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा। मेरे हिसाब से इस बात की उन्हें दरकार है।”

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.