Loading...

B’Day Spcl: जब युवराज ने उड़ाई थी अंग्रेजो की नींद, जड़े थे छह छक्के

0 14

युवराज सिंह क्रिकेट जगत में एक ऐसा नाम है जिसको परिचय की ज़रूरत नहीं। अपने शानदार खेल की बदौलत पूरी दुनिया में युवराज ने अपने फैंस बनाएं हैं। छक्कों के किंग के नाम से मशहूर पंजाब का ये शेर आजकल टीम से बाहर चल रहा है। लेकिन एक दौर था जब युवराज टीम इंडिया की जान थे। वो टीम इंडिया की रीढ़ की हड्डी थे।

आज यानी 12 दिसम्बर को युवराज सिंह अपना 37वां जन्मदिन मना रहे हैं। आज हम बात करने जा रहे हैं युवी के उस कारनामे की जिसने टी20 वर्ल्ड क्रिकेट को बदल के रख दिया था। इस कारनामे से पूरी दुनिया में युवराज के हुनर का डंका बोलने लगा था।

बता दें कि 12 दिसंबर 1981 को चंडीगढ़ में इस कमाल के खिलाड़ी का जन्म हुआ था। वहीं 19 सितंबर 2007 को पहले वर्ल्ड टी-20 में युवराज ने वह कमाल कर दिखाया, जिसकी दुनिया में आज तक चर्चा होती है।

Loading...

दरअसल भारत इंग्लैंड के खिलाफ मैच खेल रही थी। इसी दौरान इंग्लैंड के फ्लिंटॉफ और युवराज में कुछ नोंक झोंक हो गई। इससे युवराज सिंह को काफी गुस्सा आ गया। फिर क्या था युवराज ने ठीक अगले ओवर में स्टुअर्ट ब्रॉड पर अपना गुस्सा निकाल दिया और क्रिकेट जगत में एक कमाल का कारनामा कर दिया। युवी ने ब्रॉड के ओवर में टी-20 में लगातार 6 छक्के जड़ दिए और ऐसा करने वाले वो दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए।

आइए एक बार फिर से ले चलते हैं आपको उस बेहतरीन ओवर की यादों में जिसने क्रिकेट जगत में तहलका मचा दिया था।

पहली गेंद

बता दें कि इंग्लैंड के खिलाफ इस टी20 मैच में यह भारतीय पारी का 19वां ओवर था और क्रीज पर थे युवराज सिंह। और गेंदबाजी का जिम्मा मिला था स्टुअर्ट ब्रॉड को।

पहली ही गेंद पर युवराज ने डीप मिडविकेट की दिशा में शॉट खेलते हुए छक्का जड़ दिया। पहली गेंद और छह रन। अब युवी का स्कोर हो गया था 20 रन, सात गेंद में।

दूसरी गेंद
इस बार लेंथ युवी के पैरों के पास यानि की पेड्स के नज़दीक थी। इस गेंद पर युवराज ने कलाइयों का बेहतरीन इस्तेमाल हुए एक फ्लिक लगा दिया। और बेहतरीन टाइमिंग की बदौलत गेंद बैकवर्ड स्क्वायर लेग की बाउंड्री के पार गिरी। अब युवराज 26 रन पे आ गए थे मात्र आठ गेंद में

तीसरी गेंद
अब तक युवी ने दो बॉल पर दो छक्के लगा दिए थे और वो आत्मविश्वास से भरे हुए थे वहीं ब्रॉड पे प्रेशर साफ़ देखा जा सकता था। अब आई तीसरी गेंद जो थी लोवर फुलटॉस की लेंथ पे। इस पर युवी ने बाहें खोलकर कवर के ऊपर से गेंद को गाइड कर दिया जो सीधा छक्के के रूप में चली गई। अब युवराज का स्कोर था 32 रन वो भी नौ गेंद में।

चौथी गेंद

छक्कों की हैट्रिक लग चुकी थी और ब्रॉड की हालत खराब थी। अब ब्रॉड ने चौथी गेंद फेंकी जोकि ऑफ स्टम्प के एकदम बाहर डाल दी, जिसका फायदा युवराज ने उठाया और पॉइंट के ऊपर से छह रन लगा दिए। अब चार छक्के लगातार हो गए थे। युवराज के अब 38 रन थे वो भी 10 गेंद में।

पांचवी गेंद
अब चार छक्के लगातार पड़ चुके थे। दर्शकों में भारी उत्साह था। सभी चाह रहे थे की अब तो वो कमाल हो ही जाए। अब ब्रॉड की पांचवीं गेंद गुड लेंथ के आस-पास पड़ी। युवराज घुटने पर बैठकर गेंद मिडविकेट की दिशा में खेल देते हैं। और लगातार पांचवा छक्का लगा देते हैं। अब युवराज के हो गए थे 44 रन वो भी 11 गेंद में। यानि की वो छह छक्कों और सबसे तेज़ पचासे से 6 रन दूर थे।

छठवीं गेंद
अब ब्रॉड बेहद ही ज़्यादा प्रेशर में थे उनको समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है। अब ब्रॉड ने अपने ओवर की आखिरी गेंद डाली और युवराज ने मिड ऑन की दिशा में उठाते हुए लगातार 6 छक्के जमाने का रिकॉर्ड बना दिया।

इसके साथ ही युवराज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार 6 छक्के जमाने वाले दूसरे और टी-20 में पहले बल्लेबाज बन गए। अपने इस छक्के से उन्होंने 12 गेंदों में सबसे तेज पचासा का भी रिकॉर्ड बनाया।

इस टूर्नामेंट में भारत की टीम फाइनल में पहुंची और अपने राइवल पकिस्तान को अंतिम ओवर में हरा कर टी20 वर्ल्ड कप की विजेता भी बनी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.