Loading...

ट्रेन 18 के बाद अब देश में दौड़ेगी ट्रेन मेमू, खास फीचर से लैस होगी ये नई ट्रेन, 26 करोड़ की आएगी लागत

0 27

चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री जो हाल ही में बिना इंजन वाली ट्रेन 18 को बनाने को लेकर चर्चा में आई थी वो अब जल्द ही यात्रियों के लिए मेमू ट्रेन लेकर आने वाली है।

इसकी खासियत यह है कि इस ट्रेन में यात्रियों को ट्रेन 18 की ही तरह सुविधाएं मिलेंगी। दरअसल इसके पीछे मुख्य मकसद इंटर सिटी ट्रैवलिंग को आसान बनाना है।

आपको बता दें कि मेमू ट्रेन 110 से 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी। देश में फिलहाल चलते वाली राजधानी ट्रेन की अधिकतम रफ्तार 130 किलोमीटर प्रतिघंटा है।

वहीं दूसरी ओर हाल ही में लॉन्च हुई ट्रेन 18 की स्पीड की बात की जाए तो इसकी अधिकतम स्पीड 180 किलोमीटर प्रतिघंटा है। मेमू ट्रेन को ट्रेन 18 की तर्ज पर बनाया गया है। यहाँ बता दें कि मेमू ट्रैन में मेमू का मतलब है मेनलाइन इलेक्ट्रिकल मल्टिपल यूनिट ट्रेन।

Loading...

मेमू ट्रैन की खासियतें

मेमू ट्रेन काफी खूबियों से लैस है। बता दें कि ट्रेन 18 की ही तरह मेमू ट्रेन की सीटों को भी आरामदायक बनाया गया है। नई मेमू ट्रेन में रिजेनरेटिव ब्रेकिंग भी लगाया गया है जिससे 35 फीसदी ऊर्जा की बचत होगी।

अटकलों की माने तो उम्मीद की जा रही है कि 13 या 14 दिसंबर को इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जा सकती है। जानकारी के लिए बता दे की इस ट्रेन को बनाने में कुल 26 करोड़ रुपए का खर्चा आया है।

इसके अलावा इस ट्रेन में एक साथ 2,618 यात्री आराम से सफर कर पाएंगे। इसके साथ ही 247 यात्री दो मोटर कोच में आराम से बैठ पाएंगे। ट्रेन में सीसीटीवी कैमरा और जीपीएस आधारित अनाउंसमेंट सिस्टम लगाया जाएगा। इससे यात्रियों को मेट्रो की तरह ही अगले स्टेशन की जानकारी मिल पाएगी।

ट्रैन 18 भी जल्द आ सकती है

बता दें कि ट्रेन 18 जो कि एक इंजन लैस ट्रेन है वो शताब्दी को रिप्लेस करने के लिए बनाई गई है। जहां तक इसके खर्चे की बात कि ट्रेन 18 को बनाने में 100 करोड़ रुपए का खर्च आया है। ट्रेन ने कोटा-सवाई माधोपुर सेक्शन में 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल की। वैसे ट्रेन का ज्यादातर ट्रायल रन पूरा हो चुका है। और इस ट्रेन को 25 दिसंबर से इस ट्रेन को नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चलाया जाएगा। ये ट्रेन अधिकतम 200 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.