Loading...

10वीं पास के लिए मारुति सुजुकी का शानदार ऑफर, फ्री ट्रेनिंग के साथ हर महीने देगी 6850 रुपए

0 16

अगर आप दसवीं पास हैं और बेरोज़गार हैं तो ये खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए। दरअसल भारत सरकार अब दसवीं पास वालों के लिए भी एक ऐसी योजना लेके आई है जिससे बेरोज़गारी की समस्या पे काफी हद तक लगाम लगेगी।

तो अगर आप दसवीं पास है या आपकी जानकारी में कोई ऐसा व्यक्ति है तो बता दे की ये आपके लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल प्रधानमंत्री सीटीएस स्कीम के तहत अब देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड हर साल 500 बेरोजगार युवाओं को ऑटोमोटिव रिपेयरिंग की ट्रेनिंग देगी।

बता दें कि मारुति की ओर से युवाओं को यह ट्रेनिंग मुफ्त में दी जाएगी। इसके साथ ही कंपनी इस ट्रेनिंग को करने वाले युवाओं को रोजगार भी देगी।

दरअसल ये योजना भारत सरकार की कौशल विकास योजना के तहत आ रही है। इस योजना में मारुति सरकार के साथ आगे आकर यह काम करेगी। इसे लेकर मारुति और सरकार के बीच अनुबंध हुआ है।

Loading...

बता दें कि इसमें उन युवाओं ,को काफी लाभ मिलेगा जो प्राइवेट क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं। इस कोर्स के जरिए युवाओं को ट्रेनिंग के बाद मारुति जैसी बड़ी कंपनी में काम करने का मौका मिलेगा।

ट्रेनिंग करने वालों को मिलेंगे पैसे

दरअसल इस संबन्ध में भारत सरकार और मारुति के बीच एक अनुबंध हुआ है और इसी अनुबंध के तहत कंपनी 80 फीसदी युवाओं को रोजगार पाने में सभी मदद करेगी।

इसके साथ ही कंपनी को 50 फीसदी युवाओं को अपने यहां और बाकी युवाओं को दूसरी इकाई में रोजगार दिलाना होगा।

इस योजना पर मारुति सुजुकी के वाइस प्रेसिडेंट महेश कुमार गुप्ता ने बताया कि प्रशिक्षण के उपरान्त भारत सरकार की ओर से पास होने वाले छात्रों को N.C.V.T सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।

जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की अवधि 1 साल ही है। इसी के साथ कंपनी ट्रेनिंग करने वाले युवाओं को 6850रुपए मासिक मानदेय भी देगी जिससे युवा ट्रेनिंग के साथ पैसे भी कमा सकें।

सभी ITI केंद्रों में होगा कोर्स शुरू

कौशल विकास विभाग के सचिव भुवनेश कुमार ने कहा कि मारुति सुजुकी देश के पांच आईटीआई केंद्रों में भी अपने कोर्स संचालित करेगी।

इनमें वाराणसी में करौंदी और चौकाघाट के आइटीआई में जुलाई के पहले सप्ताह से उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन के तहत मारुति के माध्यम से मोटर ड्राइविंग का प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किया जाएगा।

साथ ही 3 माह के बाद कंपनी ऑटोमोबाल का काम भी शुरू करेगी जिसमें युवाओं को दुर्घटनाग्रस्त वाहनों की मरम्मत करना सिखाया जाएगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.