Loading...

विदेशी पिचों पर भारतीय तेज़ गेंदबाजो ने उड़ा रखें हैं सबके होश, तोड़ दिया 22 साल पुराना रिकॉर्ड

0 17

आज से कुछ समय पहले तक क्रिकेट के खेल में भारतीय तेज़ गेंदबाजों का बोलबाला नहीं हुआ करता था हालांकि भारतीय बल्लेबाजों ने हमेशा क्रिकेट पर राज किया है।

भारतीय तेज़ गेंदबाजों ने हमेशा संघर्ष किया है शायद ऐसा इसलिए भी है क्योंकि भारत के कल्चर में बैटिंग करना ज्यादा मुनासिब समझा जाता है और यहां की कंडीशन भी बैट्समैन के फेवर में ही ज्यादातर रहती हैं।

लेकिन अब वक्त बदल चुका है। अब भारतीय गेंदबाजों की पूछ दुनिया में हो रही है भारतीय गेंदबाजों ने पिछले कुछ वर्षों में दुनिया के अलग-अलग ग्राउंड पर बेहतरीन गेंदबाजी का उदाहरण पेश किया है और इस ट्रेंड को बदलने की कोशिश करी है जहां पर भारत को सिर्फ बल्लेबाजों की टीम समझा जाता था।

अब दुनियाभर के एक्सपर्ट्स भारत की तेज़ गेंदबाजी को भी एक अहम कड़ी मानने लगे हैं। भारत ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के पहले मैच में भी भारतीय गेंदबाजों ने अपने हुनर का प्रदर्शन किया और ऑस्ट्रेलियन टीम को पहली पारी में 235 रन के स्कोर पर ऑलआउट कर दिया।

Loading...

खास बात यह रही कि ऑस्ट्रेलिया के 10 में से 7 विकेट भारत के तेज गेंदबाजों ने झटके। इसके साथ ही भारतीय तेज गेंदबाजों ने 22 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया।

साल 2018 में झटके 118 विकेट

भारतीय तेज गेंदबाजों ने वर्तमान कैलेंडर ईयर में सबसे अच्छे औसत के साथ गेंदबाजी की है और 118 विकेट झटक लिए हैं।

इससे पहले साल 1996 में भारत ने 4 टेस्ट खेले थे और 28.09 की औसत और 57.40 के स्ट्राइक रेट से 52 विकेट झटके थे। इस दौरान टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने 13 विकेट प्रति मैच के हिसाब से झटके थे।

वर्ष 2018 में भारतीय तेज गेंदबाज काफी आगे निकल गए हैं। इस साल भारतीय तेज गेंदबाज अभी नौवां टेस्ट खेल रहे हैं। इस दौरान उन्होंने 25.90 की औसत और 50.20 के बेहतर स्ट्राइक रेट के साथ 118 विकेट झटके हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि ये भारत के तेज गेंदबाजों का किसी भी कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड भी है।

साथ ही साल 2018 में टीम इंडिया ने 13.11 विकेट प्रति मैच झटके हैं। इस तरह से वर्तमान तेज गेंदबाजी ने अपने आपको भारतीय क्रिकेट इतिहास की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी साबित कर दी है।

भारतीय गेंदबाजों ने ये भी साबित कर दिया है कि तेज़ गेंदबाजी में ऐसी धार और ऐसा आक्रमण कभी पहले देखने को नहीं मिला।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.