Loading...

जब कोहली, पुजारा, विजय और धवन ने की थी गेंदबाज़ी, रहाणे ने लगाया था दोनों परियों में शतक

0 11

क्रिकेट में ऐसे मौके बहुत कम आते हैं जहां किसी टीम के प्रमुख बल्लेबाज बोलिंग करते हुए नजर आए। ऐसा क्रिकेट में बहुत कम देखने को मिलता है लेकिन जब कभी ऐसा होता है वह पल या वह मैच काफी वह मैच काफी यादगार बन जाते हैं।

भारत के लिए भी ऐसा ही एक मैच है जो भारतीय फैंस के बीच काफी लोकप्रिय एवं यादगार है क्योंकि इस मैच में भी भारत के उन बल्लेबाजों ने बोलिंग करी थी जिनको शायद आप कभी गेंदबाजी करते हुए नहीं देखते हो।

आइए बताते हैं कौन सा वो मैच था और कौन-कौन से वह बल्लेबाज थे जिन्होंने गेंदबाज़ी में भी अपना हुनर दिखाने की कोशिश की।

दरअसल आज ही के दिन दिल्ली में भारत ने साऊथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था। ये सीरीज़ का चौथा टेस्ट मैच था और इसी टेस्ट में भारत के प्रमुख बल्लेबाजों ने गेंदबाजी में अपना हाथ आजमाया था।

Loading...

इस मैच में अफ्रीका के ओवर डिफेंसिव अप्रोच के कारण ही कप्तान ने विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, शिखर धवन और मुरली विजय से बॉलिंग करवाई थी।

रहाणे ने लगाया दोनों परियों में शतक

इस मैच में अजिंक्य रहाणे के शतक की बदौलत भारत ने पहली पारी में 334 रन बनाए थे। जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम रवींद्र जडेजा की फिरकी के जाल में फंस गई और केवल 121 रन पर ही बिखर गई थी।

वहीं पहले पारी में लीड मिलने के बाद भारत ने दूसरी पारी में फिर से रहाणे की शतक की बदौलत 267 रन बना लिए। इस तरह भारत ने दक्षिण अफ्रीका के सामने 480 रन की असाधारण लक्ष्य रख दिया।

अमला-डिविलियर्स ने खेला था पुरे डेड़ दिन

इस मैच में दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों ने अपने स्वभाव के उलट बल्लेबाजी की थी। दरअसल दक्षिण अफ्रीका ने टेस्ट ड्रा करने के लिए ऐसा खेलने का फैसला किया था। दक्षिण अफ्रीका शुरू से ही इतने डिफैंसिव मोड में चला गया कि पहले 43 ओवरों में उन्होंने सिर्फ 49 रन ही बनाए थे।

इसके बाद डीविलियर्स और अमला में वो साझेदारी हुई जो इतिहास बन गई। दोनों ने सिर्फ 27 रन जोड़े लेकिन यह रन बनाने के लिए 253 गेंदें खेल डाली। अमला जब 25 रन बनाकर आऊट हुए तो डीविलियर्स ने फाफ डु प्लेसिस के साथ पारी आगे बढ़ा ली।

डिविलयर्स ने की थी 354 मिनट तक बल्लेबाजी

टेस्ट मैच बचाने के उद्देश्य से बेटिंग करने आए डिविलियर्स ने एक बहुत ही चौंका देने वाली पारी खेली थी। एबी डीविलियर्स ने 297 गेंदों में 43 रन बनाए थे। आप इसी बात से अंदाज़ा लगा सकते हैं कि उस मैच में अफ्रीका का क्या अप्रोच रहा था। एबी ने पूरे 354 मिनट तक बल्लबाज़ी की थी।

हालांकि दक्षिण अफ्रीका इस हार को नहीं बचा पाई और पूरी टीम 143 रनों पर आऊट हो गई। ख़ास बात यह थी दक्षिण अफ्रीका ने 143 रन 143 ओवरों में ही बनाए थे।

जडेजा ने फेंके 46 में से 33 ओवर मेडिन

भारत की गेंदबाजी अगर बात की जाए तो रवींद्र जडेजा तो रन दिए ही नहीं। उन्होंने अपने 46 ओवरों में 25 रन देकर दो विकेट झटके। जडेजा ने इन 46 ओवरों में 33 मेडन भी फेंके।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.