Loading...

पारस डोगरा ने रच दिया रणजी ट्रॉफी में इतिहास, बन गए ऐसा करने वाले पहले बल्लेबाज

0 11

रणजी ट्रॉफी की शुरुआत हो चुकी है और सभी टीमें ज़ोरो शोरो से अपने प्रदर्शन देने में लगी हुई हैं। इस बार रणजी ट्रॉफी में तीन ग्रुप्स हैं। एलीट ग्रुप ए एंड बी, एलीट ग्रुप सी तथा प्लेट ग्रुप।

प्लेट ग्रुप में एक टीम के खिलाड़ी ने रणजी ट्रॉफी में इतिहास रच दिया है। पुडुचेरी के अनुभवी बल्‍लेबाज़ पारस डोगरा ने गुरूवार को इस कारनामे को अंजाम दिया।

दरअसल पुडुचेरी के 34 साल के खिलाड़ी पारस डोगरा ने प्‍लेट ग्रुप में सिक्किम टीम के खिलाफ पहले दिन दोहरा शतक (253) जड़ दिया। साथ ही उन्होंने रिकॉर्ड बुक्स में भी अपना नाम दर्ज करा लिया। बता दें कि पारस ने इस कारनामे के साथ ही अजय शर्मा के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया है।

दरअसल पारस डोगरा रणजी ट्रॉफी के इतिहास में सबसे ज्‍यादा दोहरे शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। पारस का यह 8वां दोहरा शतक था। इससे पहले यह रिकॉर्ड अजय शर्मा के नाम था, जिन्‍होंने सात दोहरे शतक जड़े थे।

Loading...

बता दें कि पारस डोगरा ने 244 गेंदों का सामना किया और इन पर 30 चौके और सात छक्‍के लगाकर 253 रन की पारी खेली हालांकि इसके बाद वो बिपुल शर्मा की गेंद पर बोल्‍ड हो गए। लेकिन उन्होंने एक नए कारनामे को अंजाम ज़रूर दे दिया।

बता दें कि पारस डोगरा ने वर्ष 2001 में हिमाचल की ओर से फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में कदम रखा था। उन्होंने नवंबर 2015 में रणजी ट्रॉफी में सात्वां दोहरा शतक लगाया था और अजय शर्मा के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली थी।

जानकारी के लिए बता दें कि रणजी ट्रॉफी के इस सीजन से पहले पारस हिमाचल से पुडुचेरी की टीम में आ गए थे। यह भी मालूम हो कि पारस रणजी ट्रॉफी में पुडुचेरी की ओर से शतक लगाने वाले पहले बल्‍लेबाज भी हैं। इन्‍होंने यह कीर्तिमान नवंबर में मेघालय के खिलाफ रचा था।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.