Loading...

अगर आपके PF अकाउंट में हो गए हैं 5 लाख रुपए तो सरकार आपको देगी पुरे 1.24 करोड़ रुपए

0 14

अगर आपका पास प्रॉविडेंट फंड अकाउंट है तो ये खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए। ये खबर आपके बहुत काम की हो सकती है। दरअसल आज हम आपको प्रॉविडेंट फंड से संबंधित एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात बताने जा रहे हैं।

ये आपके जीवन में काफी प्रभाव डाल सकती है तो इस खबर को ध्यान से पढ़ें और अगर आपने इस खबर में बटाए गए तरीके नहीं अपनाए हैं तो उनको ज़रूर अपनाएं इसमें आपका ही फायदा है।

जैसा कि हमने बताया कि अगर आपके पास प्रॉविडेंट फंड अकाउंट है तो ये खबर आपके लिए है। दरअसल अगर आपका प्रॉविडेंट फंड पुराना हो गया तो आपको ऐसा कुछ करना चाहिए जैसा की हम बता रहे हैं। यहां पुराने अकाउंट से मतलब है 10 साल पुराना।

जी हां अगर आपका प्रॉविडेंट फंड अकाउंट 10 साल पुराना हो गया है और इसमें लगभग 5 लाख रुपए हैं तो आपको नौकरी बदलने पर या दूसरी वजहों से पैसा निकालने की गलती नहीं करनी चाहिए।

Loading...

ऐसा इसलिए की अगर आप नौकरी बदलेंगे तो आप इससे पैसा निकल लेंगे फिर आपका ही नुक्सान होगा।दरअसल अगर आप इस अकाउंट से समय से पहले पैसा नहीं निकालते हैं तो कंपाउंडिंग की वजह से पीएफ अकाउंट में आपका पैसा तेजी से बढ़ेगा। यानि की आपकी पूंजी में बढ़ोतरी होगी।

इसका फायदा ये होगा कि जब कभी भी आप रिटायर होंगे तो आपके पीएफ अकाउंट में जमा रकम 1 करोड़ से अधिक हो जाएगी। अब आप सोच रहे होंगे कि ये सब कैसे होगा तो चलिए हम आपको उदाहरण सहित बताते है इस बारे में सब कुछ।

आपके अकाउंट में हो सकते हैं पुरे 1.24 करोड़ रुपए

अब उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि आपकी उम्र 35 साल है और आपका पीएफ अकाउंट 10 साल पुराना है। यानी की आपको नौकरी करते हुए भी अच्छा खासा समय हो गया है और वहीं आप उम्र के भी एकदम सही पड़ाव पर हैं।

अब ये भी मान लेते हैं कि आपके पीएफ अकाउंट में 5 लाख रुपए हैं। और आपकी मौजूदा बेसिक सेलरी 20,000 रुपए है। तो अब अगर आपकी सैलरी में हर साल 10 फीसदी का इजाफा होता है।

तो ईपीएफ पर मौजूदा 8.55 फीसदी ब्‍याज दर के हिसाब से 58 साल की उम्र यानी रिटायरमेंट के समय तक आपके पीएफ अकाउंट में लगभग 1.24 करोड़ रुपए होंगे। जी हां, पुरे 1.24 करोड़।

कैसे खोलेंगे ईपीएफ अकाउंट

ईपीएफ अकाउंट खोलना दरअसल आपके हाथ में नहीं बल्कि आपके एम्प्लॉयर के हाथ में होता है। लेकिन उसमें भी एक नियम है। यानि की एम्प्लॉयर के हिसाब से का मतलब ये है कि अगर नियमो के हिसाब से कर्मचारियों का ईपीएफ अकाउंट खुलना है तो एम्प्लॉयर को खोलना ही पड़ेगा।

इससे संबंधित नियम की बात करे तो बता दें कि अगर किसी कंपनी या संस्‍थान में 20 या 20 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं तो कंपनी के लिए अपने कर्मचारी का ईपीएफ अकाउंट खुलवाना जरूरी होता है।

आपको ये भी जानकारी दे दें कि ईपीएफ अकाउंट में हर महीने कर्मचारी की बेसिक सैलरी का 12 % कंट्रीब्‍यूशन जाता है और कंपनी भी कर्मचारी की बेसिक सैलरी का 12 % कंट्रीब्‍यूशन ईपीएफ अकाउट में करती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.