Loading...

खुदाई के दौरान मिला 188 साल पुराना नर कंकाल, ऐसे कटा हुआ था खोपड़ी का आधा हिस्सा, जैसे कि..

0 484

इंग्लैंड में साइंटिस्ट्स को 19वीं शताब्दी का कब्रिस्तान मिला है। यहां पर उनको एक 6 फीट के शख्स का कंकाल मिला है।

हालाँकि इस कंकाल को देख कर वो लोग चौंक गए क्योंकि कंकाल की स्थति से उस दौर की भयावह तस्वीर का अंदाजा लगाया गया।

दरअसल कंकाल की खोपड़ी का हिस्सा ऐसा कटा हुआ था जैसे किसी धारदार चीज से उसकी खोपड़ी काटी गई हो। इतना ही इस जगह पर करीब 100 कंकाल और मिले, जिससे उस दौर के कई राज खुले हैं।

काफी खराब था वो दौर

Loading...

बताया गया ये कंकाल सन् 1830 से 1860 के बीच के हैं। उस दौर में लन्दन में काफी खराब स्थिति थी। ये लोग काफी गरीब थे और उनपर काफी जल्म भी हुए थे।

बेरहमी से मारे जाते थे लोग

इतना हीं नहीं, कंकालों के डीएनए से पता चला कि उस दौर में एक जानलेवा बीमारी भी फैली थी, जिससे सैंकड़ों मौतें हुईं।

इस पुराने कब्रिस्तान से कई महिलाओं और बच्चों के कंकाल बरामद हुए, जिन्हें बेरहमी से मारा गया था। दरअसल वो दौर लन्दन में इंडस्ट्राइलाइजेशन का था।

अंग्रेजों काम कराने के लिए लोगो के संग जानवरों जैसा सुलूक करते थे। जो गुलामी करता था, उसे कुछ पैसे मिलते थे। और जो गुलामी से इंकार करता था उसे मौत की सज़ा दी जाती थी।

चार्ल्स डिकेंस ने लिखी थी किताब

वैसे उस दौर पर जाने माने लेखक चार्ल्स डिकेंस ने एक किताब लिखी थी। उन्होंने उस दौर के बारे में काफी कुछ सच लिख था।

उन्होंने सन् 1851 में लन्दन की स्ट्रीट लाइफ के बारे में लिखा था। उन्होंने गरीब और शोषित वर्ग के साथ होते जुल्मो के बारे में भी लिखा था। साथ ही ये भी लिखा था कि कैसे भयानक अत्याचारों उस दौर में होते थे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.