Loading...

एक ऐसा मंदिर, जहां खूबसूरत पत्नी और बढ़िया नौकरी के लिए मर्द करते हैं सोलह श्रृंगार

0 58

महिलाओं को सजने सवरने का बहुत शौक होता है। बिना श्रृंगार किए तो महिलाएं रह ही नहीं सकती। कई बाजार तो सिर्फ महिलाओं के सजने सवरने की आदत के कारण ही चलते हैं। कहा तो ये भी जाता है कि हर महिला का सजने सवरने का और श्रृंगार करने का हक़ होता है।

लेकिन क्या यही बात आपने पुरुषों के बारे में सुनी है। मुझे नहीं लगता कि आपने कुछ ऐसा पुरुषों के बारे भी सुना होगा।

दरअसल आज हम आपको ऐसी ही एक बात बताने जा रहे हैं जहां मर्द औरतों की तरह श्रृंगार करते हैं। भारत में एक ऐसा मंदिर है जहां मर्द महिलाओं की तरह सोलह श्रृंगार करके भगवान के दर्शन करने पहुंचते हैं।

यकीन नहीं हुआ? लेकिन यह बात एकदम सच है। दरअसल इस मंदिर में आने वाले हर पुरुष का एक खास मकसद होता है। पुरुष यहां जीवन से जुड़ी दो सबसे महत्वपूर्ण चीजों की मन्नत लेकर पहुंचते हैं।

Loading...

पुरुषों को करना पड़ता है महिलाओं की तरह श्रृंगार

दरअसल केरल के कोल्लम जिले के कोट्टनकुलंगरा में श्रीदेवी नाम का एक मंदिर है। इसी मंदिर में पुरुषों को महिलाओं की तरह सोलह श्रृंगार करना पड़ता है।

यहां पुरुषों को अच्छी बीवी और नौकरी के लिए महिलाओं की ही तरह सजने-संवरने के साथ साड़ी भी पहननी पड़ती है।

ऐसी मान्यता है कि जब पुरुष महिलाओं की तरह पूरे सोलह श्रृंगार करते हैं तब कहीं जाकर उनकी मुराद पूरी होती है।

सालों पुरानी है परंपरा

आस पास के लोगों की माने तो सालों पहले यहां कुछ चरवाहों ने माता की मूर्ति की पूजा महिलाओं के वस्त्र पहनकर की थी। जिसके बाद से ये मान्यता पड़ गई की पुरुषों को महिलाओं के वस्त्र में ही माता की पूजा करनी पड़ेगी।

बता दें कि इस मंदिर में पुरुषों के साथ महिलाएं भी आ सकती हैं। मतलब पुरुषों के साथ आने पर कोई मनाही नहीं है।

बता दें कि हर साल 23 और 24 मार्च को श्रीदेवी मंदिर में चाम्याविलक्कू उत्सव मनाया जाता है। इस उत्सव में पुरुषों को महिलाओं के गेटअप में ही मंदिर में एंट्री दी जाती है।

पुरुष मांगते हैं अच्छी पत्नी की मुराद

अब तक आपने महिलाओं को 16 सोमवार का व्रत करते देखा या सुना होगा। ये व्रत इसलिए होता है ताकि महिलाओं को अच्छा पति मिले। लेकिन इस मंदिर में ये मनोकामना पुरुष खुद मांगते हैं और वो भी अच्छी पत्नी के लिए।

यहां आए मर्द सोलह श्रृंगार करने के साथ साड़ी भी पहनते हैं। ताकि उन्हें अच्छी नौकरी और पत्नी मिल सके। बता दें कि इस खास तरह की पूजा की पूजा के लिए यह मंदिर दुनिया भर में मशहूर है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.