कंगारू गेंदबाजो ने ढाया कहर, फेंकी इस साल की सबसे तेज़ गेंदबाज़ी, भारतीय बल्लेबाज हुए परेशान

0 28

एडिलेड टेस्ट की शुरुआत हो चुकी है और भारत के बल्लेबाजों ने ऑस्ट्रेलियन पेस के सामने अपने घुटने टेक दिए हैं।

हालांकि ज्यादातर बल्लेबाज खराब शॉट खेल के ही आउट हुए हैं। यानी कि एक तरीके से यह कहा जाए कि बल्लेबाजों ने अपने विकेट थ्रो किए हैं।

भारत की बल्लेबाजी की बात करें तो सिर्फ चेतेश्वर पुजारा ही ऐसे बल्लेबाज हैं जो अभी तक क्रीज पर मौजूद है। उनके अलावा कोई भी बल्लेबाज ऐसा नहीं लगा जो ऑस्ट्रेलियन पेस का सामना करने के लिए तैयार हो। पुजारा की बात करें तो वह 141 गेंदों में 46 रन बनाकर खेल रहे हैं।

एक बात जो ऑस्ट्रेलियन गेंदबाजी में खास रही वो रही पेस की। जी हां, कंगारू गेंदबाजों ने बेहतरीन पेस से गेंदबाजी करने का उदाहरण पेश किया। उन्होंने सुबह के खेल में इतनी तेज गेंदबाजी करी कि उन्होंने एक रिकॉर्ड को भी अपने नाम कर लिया।

दरअसल पहले 25 ओवरों में कंगारू गेंदबाजों ने 142.78की औसत रफ्तार से गेंदबाजी की। यह नई गेंद से फेंका गया साल 2018 का सबसे तेज स्पैल है।

ऑस्ट्रेलिया के तीनों प्रमुख गेंदबाजों मिचेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस ने गज़ब की तेज़ गेंदबाज़ी का प्रदर्शन किया और नतीजतन उनको इसका फल भी मिला और विकेटों के रूप में तीनों को कामयाबी मिली।

इनमें ज्यादा अच्छी गेंदबाजी जोश हेजलवुड ने की। उन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर पिच पर गज़ब का मूवमेंट दिखलाया जिससे भारत के बल्लेबाज परेशान नज़र आए।

हेजलवुड को अपने साथियों के मुकाबले ज्यादा स्विंग मिल रही थी, जिसका उन्होंने बेहतरीन इस्तेमाल भी किया।

अगर स्विंग की बात करें तो पहले 20 ओवरों में हमें 0.8°स्विंग देखने को मिली। हालांकि अब यह 0.5° ही रह गई है। ऐसे में ये साफ़ संकेत हैं कि टीम इंडिया के गेंदबाजों को ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.