Loading...

आज तक कोई नहीं जान पाया इस रहस्यमयी जगह के बारे में, यहां अचानक गायब हो जाते हैं विमान

0 33

जिन लोगों को यह लगता है कि दुनिया में सबसे खतरनाक जगह बरमूडा ट्रायंगल और एरिया-51 है, उन लोगों को यह खबर जरूर पढ़नी चाहिए। दरअसल एक और एरिया ऐसा है दुनिया में जो बरमूडा ट्रायंगल और एरिया-51 से भी ज्यादा खतरनाक है लेकिन ऐसा क्यों है आइए जानते हैं।

दरअसल ये जगह अमेरिका के नेवाडा में है, जिसे नेवाडा ट्राएंगल के नाम से भी जाना जाता है।

बरमूडा ट्राएंगल की तरह ही नेवाडा ट्राएंगल में भी रहस्यमयी घटनाएं घटती हैं। कहा जाता है कि ये जगह इतनी खतरनाक है कि यहां से गुजरने वाला कोई भी विमान आज तक लौटकर वापस नहीं गया।

Loading...

यहां पर भी विमानों में पता नहीं क्या तकनीकी खराबी आ जाती है जिससे विमान दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 60 सालों में यहां 2 हजार से भी अधिक विमान क्रैश हुए हैं और सैकड़ों पायलट कभी जिंदा नहीं लौटे।

कहते हैं कि नेवाडा ट्राएंगल में कोई ऐसी रहस्यमयी शक्ति है जो विमानों को अपनी ओर खींच लेती है, जिसके कारण वो क्रैश हो जाते हैं। अब वो कौन सी शक्ति है, ये अभी तक वैज्ञानिकों के लिए रहस्य ही बना हुआ है।

वैसे जानकारी के लिए बता दे कि एरिया-51 में भी कुछ ऐसा ही होता है। कहा जाता है कि यहां या तो कोई गुरुत्वाकर्षण शक्ति है जो विमानों को अपनी ओर आकर्षित कर लेती है या इस जगह पर एलियंस हो सकते हैं।

हालांकि कुछ लोगों का ये भी मानना है कि एरिया-51 में अमेरिका का टॉप सीक्रेट मिलिट्री बेस है, जहां एलियंस को रखा जाता है और उनपर रिसर्च किया जाता है।

वैसे क्षेत्रफल के हिसाब से देखें तो नेवाडा ट्राएंगल काफी बड़ा इलाका है और इसी इलाके में लास वेगास, योसेमाइट नेशनल पार्क और एरिया-51 भी आता है।

इस इलाके में जिस तरह भारी तादाद में विमान क्रैश हुए हैं, यही वजह है कि लोग एलियंस के अस्तित्व की बातें मानने लगे हैं। उनका कहना है कि अमेरिका ने एलियंस के साथ छेड़छाड़ की है। ये सब उसी का नतीजा है।

11 साल पहले घटी एक घटना की पहेली आज भी अनसुलझी ही है। अमेरिका के अरबपति कारोबारी स्टीव फॉसेट का विमान 3 सितंबर, 2007 को अचानक लापता हो गया था और उसके बाद उनका कुछ पता नहीं चला।

सबसे हैरानी की बात तो ये है कि स्टीव को विमान उड़ाने का लंबा अनुभव था। उनके नाम 100 से भी ज्यादा रिकॉर्ड थे।

हालांकि साल 2008 में वैज्ञानिकों और रेस्क्यू टीम को अन्य विमान हादसों वाली जगहों पर स्टीव का आईकार्ड, विमान के अवशेष और कुछ हड्डियां मिली थीं। बाद में जांच में पता चला कि वो हड्डियां स्टीव की ही थीं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.