Loading...

महिला ने फेसबुक पर 9 महीने की बेटी की फोटोज पोस्ट कर, दुनिया के सामने ला दी झूलाघर की हकीकत

0 11,783

फेसबुक सोशल मीडिया का एक प्रमुख प्लेटफॉर्म है। अक्सर इस पे कई ऐसे पोस्ट आते हैं जिससे लोगो की किसी व्यक्ति/संस्था वगेरह के खिलाफ आँखे खुल जाती हैं। और लोग भी ऐसे पोस्ट्स का खुल के समर्थन करने लगते हैं।

ऐसा ही एक चौंका देने वाला फेसबुक पोस्ट वेल्स में एक महिला ने लिखा है। इस महिला ने फेसबुक पोस्ट कर बेटी के झूलाघर की हकीकत सुनाई। महिला ने पोस्ट में लिखा कि 9 महीने की बेटी को उसने जिस नैप्पी में झूलाघर छोड़ा था वो उसी नैप्पी में घर लौटी।

वो भी तब जबकि उसकी नैप्पी यूरिन से भरी हुई थी। पोस्ट देखते ही सोशल मीडिया यूजर्स गुस्से से भर गए। वो झूलाघर के ओनर और स्टाफ पर लापरवाही का आरोप लगाने लगे और गालियां देने लगे। बात इतनी बढ़ गई कि झूलाघर ने पुलिस को मामले में दखल देने के लिए बुलाना पड़ा।

Loading...

महिला की पोस्ट से मचा हंगामा

मामला न्यूपोर्ट की रेनबोज प्राइवेट नर्सरी का है, जहां अपनी बेटी को रखने वाली एक महिला ने सोशल मीडिया पर कुछ फोटोज पोस्ट कीं और नर्सरी पर उसका अच्छे से ख्याल न रखने का आरोप लगा दिया।

महिला ने बेटी की नैप्पी पर मार्कर से निशान लगाते हुए कुछ फोटोज शेयर कीं। ये फोटोज झूलाघर ले जाने से पहले की थीं। इसके बाद उसने झूलाघर से बेटी को लाने के बाद उसकी यूरिन से भरी नैप्पी दिखाई, जिस पर मार्कर का वो निशान मौजूद था।

महिला ने पोस्ट में लिखा कि झूलाघर ने दावा किया कि उन्होंने 3.25 बजे और 4.50 बजे दो बार बेटी की नैप्पी चेंज कीं, लेकिन हकीकत ये नहीं है। पूरे 5 घंटे दिन उसकी नैप्पी बदली ही नहीं गई।

इतना ही नहीं, महिला ने ये भी कहा कि उन्होंने जब इसे लेकर झूलाघर मैनेजर और स्टाफ से बात की तो वो महिला को झूठा करार देने लगे। उन्होंने नैप्पी बदलने का प्रूफ देने की भी बात की।

नर्सरी स्टाफ को पड़ने लगीं गालियां

महिला के ये पोस्ट करते ही सोशल मीडिया यूजर्स गुस्से में भर गई। वो झूलाघर और उसके स्टाफ पर बुरी भड़क गए और उन्हें गालियां देने लगे।

केट फॉक्स नाम की यूजर ने लिखा कि ये बहुत ही घटिया है। जब वो महिला को झूठा बताने में वक्त बेकार कर रहे थे। उतनी देर में नैप्पी ही बदलत देते।

चेल्सिया बोर्ग ने लिखा कि आखिर उनकी तुम्हें झूठा कहने की हिम्मत कैसे हुई। यूरिन में भीगी नैप्पी उनके चेहरे पर लपेट देनी चाहिए। जॉर्डना ने लिखा कि ये बहुत ही घृणित है कि लोग हाइजीन का ध्यान नहीं दे पा रहे।

बात बढ़ी और बुलानी पड़ी पुलिस

नर्सरी रेनबोज ने कंफर्म किया कि पोस्ट पर भयानक कमेंट्स थे और इनमें से कुछ स्टाफ के नाम के साथ धमकी भरे अंजाज में थे। इसे देखते हुए हमे पुलिस को बुलाना पड़ा। नर्सरी पेरेंट्स को उनका पूरा डिपॉजिट तक लौटाने को तैयार है।

नर्सरी का ये भी दावा है कि हमारे पास बच्चे की गंदी नैप्पी तक रखी हैं, हम उसे दिखा सकते हैं। उसकी नैप्पी की पहचान हमें इसलिए है क्योंकि उसकी डिजाइन सबसे अलग है, ऐसी बाकी कोई बच्चे नहीं पहनते।

पुलिस का कहना है कि उन्हें नर्सरी स्टाफ की तरफ से ही बुलाया गया था। इन्वेस्टिगेशन के लिए स्टाफ और महिला दोनों से ही बात की गई है। हालांकि, अभी कोई क्रिमिनल एक्शन नहीं लिया गया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.