Ultimate magazine theme for WordPress.

कमजोरी को दूर करने और हड्डियों को मजबूत करने में मददगार है गजक, होते हैं कई और गजब के फायदे

0 8

सर्दियों के आते ही हम लोग ऐसी चीज़ों का सेवन करना शुरू कर देते हैं जो हमारे शरीर को अंदर से गर्मी प्रदान करे। दरअसल सर्दियों के मौसम के साथ-साथ खानपान पूरी तरह बदल जाता है। इस मौसम में लोग गर्म और सीजनल चीजों पर ज्‍यादा ध्‍यान देते हैं।

वैसे इस मौसम में एक और चीज है जो लोग बहुत ही चाव के साथ खाना बहुत ज्‍यादा पसंद करते हैं। वो है गजक।

जी हां, सर्दियों में हर कोई गजक को बड़े चाव से खाना पसंद करता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मिठास के अलावा गजक में सेहत के कई राज छिपे होते हैं। सर्दियों में गजक के सेवन से कई तरह की समस्याओं से निजात मिलती है, तो आइए जानते हैं इससे होने वाले फायदों के बारे में।

कमजोरी दूर करें

गजक में गुड़ होता है जो ऊर्जा को बढ़ाने में मददगार होता है। सर्दियों के मौसम में यह आपको जुकाम से बचाता है। वहीं तिल भी ऊर्जा बढ़ाने में मददगार है। यह तासीर में गर्म होता है और इसमें अच्छी मात्रा में गुड फैट होता है। गजक में सूखे मेवे भी डाले जाते हैं जो शरीर को ताकत प्रदान करते हैं और कमजोरी दूर भगाते हैं।

त्वचा के ल‍िए भी फायदेमंद

तिल में एंटीइन्फलेमेट्री गुण होते हैं जो चेहरे की मृत कोशिकाओं को हटा नई कोशिकाओं का सृजन करती है। यह सर्दियों में रूखी और फटी त्वचा के लिए बेहद अच्‍छी होती है।

हड्डियों को रखे मजबूत

कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए गजक एक बढ़िया स्‍त्रोत है, क्योंकि गजक तिल और गुड़ से बनती है। इनमें भरपूर मात्रा केल्शियम पाया जाता है, बता दें कैल्शियम हड्डियों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। साथ ही हड्डियां मजबूत बनी रहती हैं।

वजन कम करें

तिल और गुड़ शरीर में मेटाबॉलिज्म को बढ़ानें में मदद करता हैं. जिसके कारण सर्दियों में वजन को आसानी से कम किया जा सकता है।

शरीर में मिलती है गर्माहट

गजक में फाइबर पाया जाता हैं जो पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है और कब्ज की समस्या को दूर करता है। तिल और गुड़ खाने से शरीर को गर्मी मिलती है इसलिए सर्दियों में गजक खाने से ठंड कम लगती है।

आयरन की कमी को करे पूरा

तिल में सिसामोलिन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। ये रक्त चाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने में काफी मददगार है, इसलिए एनिमिया के पेशेंट्स को गजक का सेवन जरूर करना चाहिए।

Loading...
Comments
Loading...