Ultimate magazine theme for WordPress.

मोटापे से परेशान थी 16 साल की लड़की, ना कोई दोस्त था और ना लोगों के बीच जाना लगता था अच्छा

0 18

ऑस्ट्रोलिया में एक लड़की ने अपने ट्रांसफॉर्मेशन की कहानी और इसका तरीका शेयर किया है। लड़की अपने मोटापे को लेकर स्कूल में लगातार आलोचनाओं का शिकार हो रही थी।

उसका न कोई दोस्त था और न ही वो पब्लिक प्लेस पर जाना पसंद करती थी। ऐसे में उसने पहले खुद को फिट करने की सोची और फिर अपने परफेक्ट लुक से सबकी आलोचनाओं का मुंहतोड़ जवाब दिया।

उसने महज 12 महीने में अपने 63 किलो तक वजन घटा डाला। उसने इसके लिए कार्बोहाइड्रेट, चीनी और प्रॉसेस्ड फूड को बिल्कुल बाय-बाय बोल दिया।

मोटापे के चलते होना पड़ा शर्मिंदा

क्वींसलैंड में रहने वाली जोसे डेसग्रैंड को 16 साल की उम्र में अपने मोटापे के चलते बहुत शर्मिंदगी झेलनी पड़ी। स्कूल से लेकर बाहर तक हर जगह उसने अपने मोटापे को लेकर कमेंट झेलना पड़ता था।

जोसे ने कोई जवाब देने के बजाय खामोश रहने का रास्ता चुना और अपने काम से सबको जवाब देने का फैसला किया। तभी से उसने अपना वजन कम करने की तैयारी कर ली।

जोसे ने अपने इस सफर के बारे में बताया कि उसने सबसे पहले ये तय किया कि वो कम से कम कार्बोहाइड्रेट, चीनी और प्रॉसेस्ड फूड खाएगी। इसके लिए उसने 6 महीने सिर्फ नेचुरल शुगर खाई।

उसने बताया कि शुरुआत के 15 दिन उसके लिए हेल्दी फूड खाना आसान नहीं था लेकिन अब ये बहुत आसान हो चुका है। अब इसे मैं डाइट के तौर पर नहीं, बल्कि लाइफस्टाइल के तौर पर देखती हूं।

बॉडी ट्रांसफॉर्मेशन की शुरुआती स्टेज में उसने कम से कम एक्सरसाइज की लेकिन अब वो पर्सनल ट्रेनर के साथ अपनी बॉडी को टोन्ड करने में लगी हुई है।

हफ्ते में जिम के तीन से चार सेशन उसके फिटनेस रूटीन का हिस्सा है। वहीं कम कार्बोहाइड्रेट और बिना शुगर के खाने से वो अपनी बॉडी को फिट करने में लगी हुई हैं।

हालांकि, जोसे की इस मेहनत ने रंग भी दिखाया। महज 12 महीने में उसने 127 किलो वजन में से 63 किलो घटा लिया। वहीं, अब दो साल में उसका वजन 60 किलो हो चुका है।

लौट आया आत्मविश्वास

जोसे ने कहा कि मोटापे के चलते मिलने वाले कमेंट्स से मेरा आत्म विश्वास भी खत्म सा हो गया था। मेरे कोई दोस्त नहीं थे और मुझे लोगों के बीच जाना भी अच्छा नहीं लगता था लेकिन मैंने हार नहीं मानी।

उसने कहा कि इन दो सालों में मैंने जिंदगी की बहुत मुश्किल चुनौतियों का सामना किया लेकिन मैंने हमेशा खुद इन सबसे ऊपर उठाया और खुद आगे बढ़ने की कोशिश की।

जोसे ने कहा हर किसी की लाइफ में बुरे दिन आते हैं लेकिन इससे डरकर सफर बीच में ही नहीं छोड़ना चाहिए। हर चीज का अंत होता है और इसका भी होगा इसलिए हमेशा पॉजीटिव रहें।

Loading...
Comments
Loading...