Ultimate magazine theme for WordPress.

यहां लोगों का एक लत की वजह से हो रहा है बुरा हाल, एड्स से ज्यादा खतरनाक है ये बीमारी

0 7

ब्रिटेन में इन दिनों एक ऐसे ड्रग्स ने दस्तक दे दी है, जो लोगों की भयानक मौत का कारण बन रहा है। नशे की लत में लोगों का ऐसा हाल हो रहा है कि वो जिंदा लाश बनते जा रहे हैं। ये ड्रग्स ऐसा है कि शरीर की चमड़ी और अंगों को खाने लग जाता है।शरीर से दूर से ही सड़ी हुई लाश की तरह भयानक बदबू आने लगती है। देखते-देखते व्यक्ति का शरीर गायब होने लगता है।

क्रोकोडिल नाम के इस कैनेबिल ड्रग को दुनियाभर में एड्स से भी ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है। बहुत ही ज़्यादा खतरनाक ड्रग्स है ये। ज़िंदा लाश बना के छोड़ रहा ये ड्रग्स।

ब्रिटेन के मशहूर अखबार द सन में छपी रिपोर्ट के मुताबिक इस ड्रग की लत ब्रिटेन में तेजी से बढ़ रही है। दर्द कम करने वाले ड्रग्स के नाम पर लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं पर इसकी भयानक सच्चाई सामने आने पर मौत मांग रहे हैं।

हीरोइन से 10 गुना ज्यादा ताकतवर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दुनिया में सबसे गंदा और जानलेवा नशा अबतक हीरोइन था पर क्रोकोडिल ड्रग्स इससे 10 गुना ताकवर बताया जा रहा है। आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि कितना खतरनाक और जानलेवा ड्रग्स है ये।

इस ड्रग्स को लेने वाले पीड़ितों की खौफनाक फोटोज इंटरनेट पर वायरल हो रही हैं। जिसमें इनके सड़ते हुए शरीर नजर आ रहे हैं। ऐसा लग रहा है जैसे सड़े हुए मुर्दे की लाश हो।

रूस में मच चुकी है तबाही

ब्रिटेन से पहले इस भयानक ड्रग्स से रूस में हजारों मौत हो चुकी हैं। 2013 में इस ड्रग्स ने कई लोगों को अपनी चपेट में लिया था, जिसमें कई लोग जिंदा लाश बनकर रह गए थे।

दुनिया का सबसे खतरनाक ड्रग्स घोषित

2016 में क्रोकोडिल को दुनिया का सबसे खतरनाक ड्रग्स घोषित कर दिया गया। जैसे ही कोई व्यक्ति इसे इंजेक्शन से लेने की कोशिश करता उसके शरीर में उस जगह के ब्लड वैसल फट जाते हैं और चमड़ी जलकर निकलने लगती है।

नशे में व्यक्ति को पता नहीं चलता कि उसकी मौत की शुरुआत हो गई है।

घर पर बनाने लगे थे ड्रग्स

इस ड्रग्स को मेडिकली डेसमोरफीन कहा जाता है, जिसे कुछ आसानी से मिलने वाली दो-तीन दवाइयों को मिलाकर बनाया जाता है। इसी वजह से इसकी लत वाले लोग इसे घर पर बनाने लगे थे।

सड़ने लगता है शरीर, जोम्बी बन जाते हैं लोग

इस ड्रग्स की जानकारी रखने वाले नार्कोटिक्स एक्सपर्ट और साइकोलॉजिस्ट सेरगी एगलाकोव ने कहा, ” इसका इस्तेमाल करने वाले लोग जोम्बी की तरह बन जाते हैं। उनका पूरा शरीर सड़ने लगता है( ऐसे लोगों के पास से डेड बॉडी की तरह बदबू आने लगती है। इन्हें आप दूर से ही पहचान सकते हैं”

Loading...
Comments
Loading...