Ultimate magazine theme for WordPress.

ध्यान से देख लीजिए इस हैवान को! जो बच्ची कुछ समझ भी नहीं पाती थी उसके साथ की हैवानियत और फिर

0 85

इंदौर से मानवता को शर्मसार करने वाली एक ऐसी खबर आ रही है जिसके बारे में जानकार आपकी आंखें नम हो जाएगी. जी हां यहां के रहने वाले एक युवक ने साढे 4 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म करने के बाद निर्मम हत्या कर दी. हालाँकि इस युवक को अभी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के अनुसार आरोपी को पकड़ते वक्त वह गिर गया जिस कारण उसके हाथ और पैर में फ्रेक्चर भी आया है. पुलिस ने बताया की आरोपी हनी पिता राजेश अटवाल (22) शनिवार को जावरा में हुसैन टेकरी आ गया जहा से वो भीड़ का फायदा उठाकर बचना चाहता था.

आरोपी के कारण उसके परिवार को भी सजा हो चुकी है.पुलिस ने बताया कि आरोपी ने साल 2013 में मंदसौर की मल्हारगढ़ तहसील के गांव अठवाल में 7 साल की बच्ची के साथ रेप किया था. तब पुलिस ने कोर्ट ने इसे 26 फरवरी 2016 को नाबालिक होने के कारण बाल सुधार गृह भेजने का निर्देश दिया था. इसके अलावा इस मामले में आरोपी के दादा मदनलाल, पिता राजेश, मां मंजूबाई व भाई गोलू उर्फ डोनाल्ड को बच्ची के रेप के साक्ष्य छिपाने के केस में 5 दिसंबर 2015 को 500- 500 रूपय में 3 साल सश्रम सजा सुनाई थी.

चिप्स का पैकेट दिलाकर ले गया झाड़ियों में

आरोपी के अनुसार वो बच्ची को बहला-फुसलाकर ले गया था. हनी ने बताया कि जब बच्ची 7 बजे ट्यूशन से वापस आ रही थी तो वो उसे अपने साथ ले गए. आरोपी बच्ची को नगर निगम के पास वाले नाले के किनारे स्थित झाड़ियों में ले गया जहां उसने बच्ची को विश्वास में लेने के लिए उसे चिपस दिलाई. इसके बाद आरोपी ने अंधेरे का फायदा बच्ची का रात 12:00 बजे तक रेप करता रहा. उसने बच्ची के साथ कई बार दुष्कर्म किया. अंत में उसने सबूत मिटाने के लिए बच्ची के चेहरे को पत्थरों से कुचल कर उसकी निर्मम हत्या कर दी.

इस तरह आरोपी तक पहुंची पुलिस

पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए 12 टीमें बनाई. इन टीमो ने मंदसौर में बांछड़ा समाज के डेरों में आरोपी के सक्रिय होने की सूचना मिली तो उन्होंने वहां पर सर्चिंग अभियान चलाया. जिसके बाद आरोपी के जावरा में होने की खबर मिली तो घेराबंदी कर उसे पकड़ लिया.

इस मामले पर समाज के लोगो और महिलाओं ने प्रदर्शन किया। महिलाओं का कहना है कि आरोपी को फांसी देकर मामला फास्ट्रेक कोर्ट में चलाना चाहिए. पर प्रदर्शन के दौरान समाज के कुछ युवकों ने महिलाओं के साथ बदसलूकी की. इसके बाद बाल्मीकि समाज और महिलाओं ने शाम को पुलिस के खिलाफ नारे लगाते हुए कैंडल मार्च निकाला.

Loading...
Comments
Loading...