Loading...

क्या आप जानते हैं कि 2 दिन क्यों मनाई जाएगी जन्माष्टमी, अगर नहीं तो जानें कारण

0 39

इस बार कृष्ण जन्माष्टमी की 1 तारीख ना होकर 2 दिन मनाई जाएगी. 2 और 3 सितंबर को कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी क्योंकि इस बार जन्माष्ठमी को लेकर ज्योतिशसशास्त्रियो में कई मतभेद है. पर 3 सितंबर को मनाई जाने वाली जन्माष्टमी पर सर्वार्थ और अमृत सिद्धि योग बन रहे है.

2 दिन जन्माष्ठमी मानाने के पीछे पं. फौजदार तिवारी ने बताया कि श्री कृष्णा भगवन का जन्म अष्ठमी तिथि को रोहिणी नक्षत्र में रात 12 बजे हुआ था. पर वैष्णव संप्रदाय के लोग उदयव्यापिनी तिथि में किसी भी व्रत और उत्सव को मनाना सुभ नही मानते है इस कारण जन्माष्ठमी 2 दिन मनाई जाएगी.

पंडित प्रह्लाद पंड्या के अनुसार अष्ठमी तिथि 2 सितम्बर को रात 8:52 बजे से लग जाएगी तो 8:06 से रोहिणी नक्षत्र लागु हो जायेंगे. इसके अगले दिन उदया तिथि होने पर वैष्णव संम्प्रदाय के लोग 3 सितम्बर को रात 8 बजे तक रोहिणी नक्षत्र और तिथि रहेगी इसलिय यह संम्प्रदाय 3 सितम्बर को जन्माष्ठमी मनायेगा.

Loading...

उज्जैन के महान ज्योतिषाचार्य पं आनंदशंकर व्यास बताते है कि शिव को मानने वाले शेव तो विष्णु को मानने वाले वैष्णव कहलाये. शेव समुदाय एक दिन पहले जन्माष्ठमी मनायेगा तो वैष्णव एक दिन बाद मनाएंगे. शैव समुदाय अत्यंत प्राचीन ह पर वैष्णव समुदाय की उत्पत्ति 500 वर्ष पहले हुई थी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.