Loading...

ढाई साल की मासूम से दरिंदगी करने वाले को उम्रकैद, दरिंदा वकील से पूछने लगा – जमानत कब होगी

0 16

देश में मासूमों के साथ हो रही रेप की घटनाएं रुकने का नाम ही नहीं ले रही है. हाल ही में एक युवक ने ढाई साल की बच्ची को अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया. कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि यह घिनौना काम मानवता के लिए एक श्राप है इसका असर समाज पर पड़ता है. 26 साल के पश्चिम बंगाल के रहने वाले युवक जगन्नाथ को एडिशनल सेशन जज पूनम सुनेजा ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. इस मामले में 11 लोगों ने अपनी गवाही दी जगन्नाथ पर ₹20000 जुर्माना भी लगाया गया है. फैसला होने के बाद पुलिस वाले जगन्नाथ को पकड़ कर जेल में ले जा रहे थे तो जगन्नाथ ने अपने वकील से पूछा कि जमानत कब होगी.

पीड़ित का परिवार यूपी का था जो लाजपत नगर में कई सालों से रह रहा था. 24 मई 2017 की रात लाइट जाने पर जगन्नाथ मौका पाकर लड़की को अपने कमरे पर ले गया. लाइट आने पर जब घरवालों को बच्ची नहीं मिली तो उन्होंने आस-पास के कमरों में देखा. फिर बात एरिया में फैल गई. पीड़ित की मां ने जगन्नाथ के कमरे में देखा तो उसे अपनी बेटी वहां पर मिली और जगन्नाथ कपड़े ठीक कर रहा था. बेटी की हालत को देखकर माँ सहम सी गई क्योंकि उसके सामने उसकी बेटी अर्धनग्न अवस्था में पड़ी थी और बच्ची के प्राइवेट पार्ट से खून बहे जा रहा था. जगन्नाथ मां को देखकर डर गया और वहां से फरार होना चाहता था पर लोगों ने उसको पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया.

पीड़ित परिवार ने बच्ची को पास के अस्पताल में भर्ती कराया जहां पर डॉक्टरों ने बच्ची की गंभीर हालत के कारण उसे ट्रॉमा सेंटर से पीजीआई में रेफर कर दिया. घर की आर्थिक स्थिति कम होने के कारण घर वाले बच्ची का इलाज कराने से कतरा रहे थे तो यमुना नगर थाना के तत्कालीन इंचार्ज अजीत सिंह की मुहिम पर कई उद्योगपतियों ने पीड़ित बच्ची के लिए पैसे दिए और उसका इलाज करवाया.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.