Loading...

भारत का दूसरा सचिन कहे जाने वाले इस खिलाड़ी का करियर अब जा रहा है अंधेरे में

0 17

भारतीय अंडर-19 टीम को विश्व कप में जीत दिलाने वाले मोहम्मद कैफ और 2008 में कारनामा करने वाले विराट कोहली दोनों खिलाड़ियों को भारतीय टीम में खेलने का मौका मिला था. 2018 में अंडर-19 विश्व कप टीम को जीत दिलाने वाले भारतीय टीम के कप्तान पृथ्वी शॉ भी अभी भारतीये टीम के लिए खेल रहे है.

2012 में अंडर-19 विश्व कप जीतने वाले भारतीय टीम के कप्तान उन्मुक्त चंद का भविष्य अंधेरे में नजर आ रहा है. आज जिस प्रकार पृथ्वी शॉ और ऋषभ पन्त को भारतीय क्रिकेट टीम का भविष्य कहा जाता है, उसी तरह 6 साल पहले उन्मुक्त चंद को भारतीय टीम के ठोस भविष्य की नींव कहा जाता था. 6 साल पहले विश्वकप जीतने वाले चंद अब तक भारतीये टीम में जगह तक नही बना पाए है.

IPL टीम भी नजरअंदाज कर रही है

दिल्ली डेयरडेविल्स और मुम्बई इंडियंस की तरफ से आईपीएल खेल चुके उन्मुक्त को अब ख़राब फॉर्म की वजह से कोई भी टीम नही खरीदना चाहती है. 2 टीमो की तरफ से आईपीएल खेल चुके चाँद कुछ खास नही कर पाए थे.

Loading...

दिल्ली की घरेलू टीम भी बार-बार बहार बैठा रही है

अंडर-19 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्मुक्त ने साल 2012 में 111 रन के शानदार शतक से जीत दिलाई थी. पर अब ख़राब फॉर्म की वजह से चंद को घरेलू टीम भी बार बार ड्राप कर रही है.

उन्मुक्क्त चंद ने प्रथम श्रेणी के 60 मैचों में 3184 रन बनाए है. लिस्ट A कॅरिअर में 41.91 की औसत से 98 मैचों में उन्मुक्क्त ने 3730 रन बनाए है. उन्मुक्क्त ने अपने टी-20 कॅरिअर में 21.72 की जबरदस्त औसत से 67 मैचों में 1325 रन बनाए है. आज यह भारत का दूसरा सचिन कहे जाने वाला खिलाडी रणजी में भी जगह नही बना पा रहा है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.