Loading...

ये 3 बड़े बैंक बंद कर रहें हैं अपनी 70 ब्रांच, कहीं इन ब्रांच में आपका खाता तो नही है

0 18

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक 70 विदेशी शाखाओं को बंद करने अथवा तर्कसंगत बनाने में लगे हुए हैं. खबरों से पता चला है कि यह बैंक अव्यवहारिक विदेशी परिचालनों को बंद करके और अपनी कार्यकुशलता को बढ़ाने के लिए कई शाखाओं को तर्कसंगत बनाने का काम कर रहे हैं.

बीते साल 35 विदेशी शाखाएं बंद कर दी गई थी और अब इस वित्त वर्ष में 70 विदेशी शाखाओं को बंद करने का अथवा तर्कसंगत बनाने का कार्य चल रहा है. अपनी कार्यकुशलता को बढ़ाने के लिए बैंक हर एक चीज पर पूरा जोर लगाकर कार्य कर रहे हैं . आंकड़ों के अनुसार पिछले साल 159 विदेशी शाखाएं चल रही थी. जिनमे से 41 शाखाये साल 2016-17 में घाटे पर थी. PSB मंथन में बैंकिंग क्षेत्र के एजेंडे के अनुसार बैंकों को और अधिक कुशल बनाने के लिए विदेशी परिचालन को बंद या तर्कसंगत बनाने के कदम उठाए जाएंगे.

भारत के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की 9 विदेशी शाखाएं घाटे में चल रही है, तो दूसरी ओर बैंक ऑफ इंडिया 8 विदेशी शासकों में घाटा खा रहा है. 7 बैंक ऑफ बड़ौदा की विदेशी शाखा भी घाटे में चल रही है. देश में SBI की 52, बैंक ऑफ बड़ौदा की 50, बैंक ऑफ इंडिया की 29 विदेशी शाखा है. सरकारी बैंकों की सबसे ज्यादा शाखा ब्रिटेन में 32, हांगकांग में 13 और सिंगापुर में 12 शाखा है. 31 जनवरी 2018 तक सार्वजनिक बैंकों के 165 विदेशी शाखाओं के अलावा अनुषंगी, संयुक्त उद्यम और प्रतिनिधि कार्यालय है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.