Loading...

अद्भुत: जमीन के नीचे बसा हुआ है ये सदियों पुराना गांव, आज भी यहां लोग रहते है अंडरग्राउंड

0 1,264

आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताएंगे जो पूरा गांव अंडरग्राउंड रहता है। बेशक आप को इस बात को यकीन नहीं होगा लेकिन आपको बता दें यह बिल्कुल सच्चाई है। ट्यूनीशिया एक ऐसा गांव है जिसमें सभी लोग अंडरग्राउंड मकान में रहते हैं। दरअसल यहां पुराने तरीके के घर बने हुए हैं, जो जमीन के अंदर बने हुए हैं। इन घरों पर गर्मी और सर्दी का भी कोई असर नहीं होता। पिछले कुछ दशकों से यहां की आबादी में काफी कमी देखने को मिली है। इस वजह से अब थोड़े से परिवार ही यहां निवास करते हैं। इन परिवारों का इस जगह से इतना लगाव है कि वह इस जगह को छोड़कर नहीं जाना चाहते।

घर न छोड़ने की बताई ये वजह

वैसे इस गांव का नाम दजेबल दहर है लेकिन इस अंडरग्राउंड गांव को तिज्मा गांव के नाम से भी जाना जाता है। ट्यूनीशिया के प्रेजिडेंट बोरगुईबा ने 1960-1970 के बीच नया टाउन बसाया तो इस तिज्मा गांव के कई परिवार यहां से चले गए। अब इस अंडरग्राउंड गांव में बहुत कम ही परिवार रहते हैं।

Loading...

सूखे और बारिश से पीड़ित होकर लोगों वेनिस गांव को छोड़ा था। कुछ लोगों ने आसपास की जमीन पर भी नए घर बसा लिए है। पुराने अंडरग्राउंड घरों को अब अस्तबल और वर्कशॉप के तौर पर उपयोग में लिया जाता है।

यहां की 35 वर्षीय सलीमा मोहम्मदी ने बताया कि वो काफी समय से अपने परिवार के साथ यहीं रह रही है। उसे इस जगह रहने से कोई समस्या नहीं है। सलीमा इस जगह को कभी नहीं छोड़ना चाहती।

वहीं एक दुकानदार हेदी अली ने बताया कि वो इस इलाके के सबसे बुजुर्ग है। उन्हें इस इलाके की बसावट के बारे में पता है। हेदी ने बताया कि इस गांव का आखिरी मकान 1970 में बना था।

ज्वालामुखी के गड्ढे जैसे हैं दिखते

तिज्मा गांव के सभी घर एक ज्वालामुखी के गड्ढे की तरह दिखाई देते है। उनमें गुफाएं भी बनी होती है। वहीं उपर की तरफ जैतून और पाम के बहुत सारे पेड़ लगे हुए हैं। यह अंडरग्राउंड गांव लीबिया के बॉर्डर के काफी नजदीक पड़ता है।

टूरिज्म है यहां रहने वालों की कमाई का जरिया

यहां के निवासी गुजारे के लिए जैतून फार्मिंग और ट्यूरिज्म पर आश्रित है। यह जगह सैलानियों में काफी फेमस जगह मानी जाती है। लेकिन 2011 की अरब की क्रांति के बाद से यहां ट्यूरिज्म भी काफी कम हो गया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.