Loading...

नौकरी देने के मामले में चीन से काफी ज्यादा पीछे है मोदी सरकार – राहुल गांधी

0 17

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अभी जर्मनी दौरे पर गए हुए हैं. इस दौरे के पहले दिन राहुल गांधी ने नोटबन्दी और मोबलीचिंग को बेरोजगारी से जोड़ते हुए बीजेपी पर निशाना साधा और कड़ी आलोचनाओं का शिकार भी हुए. दौरे के दूसरे दिन राहुल ने फिर से मोदी सरकार को घेरते हुए रोजगार का मुद्दा छेद दिया है. राहुल का कहना है कि नए रोजगार देने में मोदी सरकार चीन से बहुत पीछे हैं.

इससे पहले भी राहुल चीन की अर्थव्यवस्था और नौकरी के बारे में मोदी सरकार को घेर चुके हैं. इस बार राहुल ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार नए रोजगार देने के बजाय देश को धर्म और समुदाय में बांट रही है, जो एक अच्छा कदम नहीं है.

राहुल ने आरोप बीजीपी और आरएसएस पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये देश मे नफरत फैलाने का काम करते है. और अपनी पार्टी की तारीफ करते हुए कहा कि इन सबके विपरीत कांग्रेस देश को आगे बढ़ाना चाहती है.

राहुल जी का दावा है कि चीन की अर्थव्यवस्था मौजूद समय मे भारत से काफी बेहतरीन है. लेकिन इस समय चीन में रोजगार के ज्यादा अवसर पैदा करने की बात को नकारा नहीं जा सकता.

Loading...

राहुल जी का कहना है कि चीन में अभी रोजाना 50 हजार नई नौकरियां सृजित होती है. इसके मुकाबले में भारत मे सिर्फ 450 नौकरियां ही सृजित हो पा रही हैं. नए रोजगार पैदा करना ही उस अर्थव्यवस्था की क्षमता और ताकत का प्रदर्शन करती है.

आपको बता दें, राहुल गांधी जर्मन प्रवासी भारतीयों की एक सभा मे यह सब बोल रहे थे. सभा शुरू होने से पहले राहुल जी को बताया गया कि इस सभा मे कुछ गैर कांग्रेसी भी सम्मिलित हैं. इस ओर राहुल ने सभा शुरू करते हुए कहा कि लोगों को कांग्रेस की नीतियों को ध्यान से सुनना चाहिए, क्योंकि कांग्रेस पार्टी देश को एकजुट करने की राजनीति में विश्वास रखती है.

सिख समुदाय को जर्मनी में भारत का नाम रोशन करने पर बधाई देते हुए राहुल ने कहा कि उनकी पार्टी सिख समुदाय के आदर्श गुणांक की सोच पर चलती आ रही है. सिख समुदाय देशभर में लंगर का आयोजन करता है. ठीक उसी प्रकार कांग्रेस पार्टी की भी सोच है कि इस देश मे कोई भी इंसान भूखा नहीं सोना चाहिए. कांग्रेस एक साथ सबका विकास चाहती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.