Loading...

फर्जी ATM के जरिए कॉसमॉस कॉपरेटिव बैंक को लगा 94 करोड़ 42 लाख का चूना

0 28

पुणे स्थित कॉसमॉस कॉपरेटिव बैंक के एटीएम से फर्जी एटीएम कार्ड के जरिए करीब 94 करोड़ 42 लाख रुपए निकाल लिए गए. वहीं इस मामले में पुलिस को बड़ी मशक्कत करने के बाद इतनी बड़ी राशि में से मात्र 1.20 लाख रुपए ही वापस मिल पाए हैं. वहीं इस पूरे मामले को लेकर ठाणे के चतुर्श्रुंगी पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया गया है. वही राज्य के पुलिस साइबर सेल ने भी इस पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है.

वहीं इस पूरे मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि स्विच का बोगस सर्वर बनाकर पेमेंट गेटवे की गलत जानकारी देकर करीब 94 करोड़ 82 लाखों रुपए कॉसमॉस बैंक से फर्जी तरीके से निकाल दिए गए. एक मामले में फर्जी ATM कार्ड से 15000 ट्रांजैक्शन करके 80.50 करोड रुपए निकाल लिए गए थे.

वही ठाणे के चतुर्श्रुंगी पुलिस थाने में कॉसमॉस बैंक के द्वारा मामला दर्ज कराए जाने के बाद राज्य का पुलिस साइबर सैलरी एकदम हरकत में आ गया है. साइबर सेल के विशेषज्ञ इंस्पेक्टर जनरल बृजेश सिंह इस मामले की खुद जांच करने में लगे हुए हैं.

इस पूरे मामले की जांच करने में लगी पुलिस को 22 अगस्त को एक छोटी सी सफलता हाथ लगी. पुलिस को जांच के दौरान यह जानकारी मिली कि अपने ही देश में कई शहरों में फर्जी ATM कार्ड के जरिए दो करोड़ से ज्यादा की रकम निकाली गई.

Loading...

इस फर्जीवाड़े को बड़े अलग-अलग तरीके से अंजाम दिया गया. देश में मौजूद सैकड़ों ATM से करीब 2849 ट्रांजैक्शन करके दो करोड़ 50 हजार रुपए निकाले गए. इन सभी एटीएम मैं से बड़ी रकम रुपए पेमेंट गेटवे से निकाली गई. वहीं कई ऐसे भी मामले सामने आए जिनमें लोगों के बैंक अकाउंट में पैसे कम थे, लेकिन इसके बावजूद भी ATM से पैसे निकाल लिया गया. वहीं पुलिस ने इस पूरे मामले में पुणे के दो शख्स को सीसीटीवी फुटेज के जरिए पहचान लिया. अब साइबर सेल देश के करीब 800 ATM के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला रही है ताकि इस फर्जीवाड़े के मास्टरमाइंड को पकड़ा जा सके.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.