Loading...

ऑनलाइन बैंकिंग में फ्रॉड या हैकिंग को लेकर सरकार ने उठाया बड़ा कदम, अब नहीं होगा कोई खतरा

0 14

ऑनलाइन बैकिंग को लेकर हमे असुरक्षा महसूस होती है, क्योंकि आये दिन फ्रॉड और हैंकिंग के मामले ऑनलाइन बैकिंग को लेकर सामने आ रहे हैं। इन मामलों से उभरने के लिए सरकार ने इसे सुरक्षित बनाने का फैसला किया हैं। इस प्रक्रिया में वित्त मंत्रालय के निर्देश पर सभी बैंकिंग एप्स और सेवाओं को साइबर सिक्योरिटी सेल से जोड़ा जा रहा है। इस प्रकिया से हैंकिंग का खतरा नही रहेगा। सरकारी आधिकारिक बैंक और आरबीआई के बीच हुई बैठक के साइबर सिक्योरिटी को मजबूत बनाने का फैसला किया हैं।

कैसे होगी ऑनलाइन बैंकिंग सुरक्षित?

सुरक्षा दृष्टि के तहत सरकार बैंकिंग सेवाओ से जुड़े एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर को बैंक में बने मुख्यालय के तकनीकी विभाग से जोड़ेगी। साथ ही साथ ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने पर मोबाइल पर आने वाले ओटीपी की प्रक्रिया को भी और सुरक्षित और मजबूत करने पर विचार किया जा रहा है।

कैसे काम करेगा ये सिस्टम?

Loading...

बैंक ऑफ बड़ौदा के स्वतंत्र निदेशक गोपाल अग्रवाल के अनुसार, सरकार ऑनलाइन से जुड़ी सारी सेवाओ को बैंक के सिस्टम से जोड़ेगा। यह सिस्टम बड़ा या संदिग्ध लेन-देन होने पर मैनेजर को अलर्ट भेज देगा। इससे किसी भी तरह की गलत गतिविधि पर नजर रखी जा सकेगी और हैकिंग या कोई फ्रॉड होने से बचा जा सकेगा। यह फ्रॉड कॉल को भी रोकने का काम करेगा।

अपने बैंकिंग डिटेल्स का रखे ख्याल

– अपनी निजी जानकारी किसी से भी शेयर ना करें। किसी को अपनी जन्म तिथि, गाड़ी का नंबर, मोबाइल नंबर आदि न बताएं।

– इंटरनेट बैंकिंग डिटेल्स, अकाउंट नंबर और एटीएम पिन मोबाइल में सेव ना रखें।

– किसी भी तरह का कॉल आने पर अपने बैंक से जुडी कोई जानकारी ना दें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.