Loading...

दिल्ली: इस जगह से जिंदा लौट पाना है मुश्किल, पुलिस भी रहती है काफी सचेत…..

0 79

भूत प्रेत और आत्माओं के किस्से आए दिन सुनने को मिलते हैं। लेकिन वाकई में इनका अस्तित्व है या नहीं, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। कई लोग ऐसी बातों को अफवाह और वहम कह कर टाल देते हैं। लेकिन ऐसे किस्से समय-समय पर सुनने को मिलते रहते हैं।

आज हम दिल्ली के ऐसे भूतिया महल के बारे में आपको बताएंगे जहां लोग जाने से डरते हैं। दरअसल इस महल को भूली भटियारी महल के नाम से जाना जाता है। इतिहास के मुताबिक तुगलक वंश के सूफी संत बल-अली-बख्तियारी के नाम पर इस बंगले का नाम रखा गया है।

आपको बता दें यह भूतिया महल दिल्ली के करोल बाग से बग्गा लिंक की तरफ जाने वाले वीरान जंगल में बना हुआ है। इस महल की सबसे विशेष बात यह है कि शाम होने के बाद यहां किसी का भी आना जाना मना होता है। इस वजह के कारण इस महल के बाहर बोर्ड भी लगा हुआ है जिसमें साफ-साफ लिखा हुआ है कि सूर्यास्त के बाद यहां ना जाए।

Loading...

वैसे इस रहस्यमई महल के बारे में कई सारी कहानियां लोगों से सुनी जा सकती है। ऐसी एक कहानी है जिसमें तुगलक वंश के एक राजा को अपनी रानी से बहुत प्यार था। शिकार के लिए एक दिन उसी राजा ने इस जगह पर अपनी रानी को बेवफाई करते हुए खुद अपनी आंखों से देखा था। इस घटना के बाद उस राजा ने अपनी रानी को इसी महल में अकेला छोड़ दिया। थोड़े दिनों बाद भटकते-भटकते किसी महल में रानी की मौत हो गई और उसी रानी की आत्मा इस महल में आज भी भटकती है।

वहीं लोगों ने इस महल में कई अलौकिक शक्तियों को महसूस किया है। कई लोग इसे महज भरम ही मानते हैं लेकिन लोगों का कहना है कि अगर कोई रात में इस महल के अंदर चला जाता है, तो वह कभी वापस लौटकर नहीं आता। इस मामले में दिल्ली पुलिस भी हाई अलर्ट पर रहती है। जैसे ही शाम होती है, इस महल की ओर जाने वाली सभी सड़कों को बेरीकेट्स लगाकर बंद कर दिया जाता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.