Loading...

ये है ऑस्ट्रेलिया का वो खिलाड़ी जिसके कारण गांगुली से छिन गई थी टीम इंडिया की कप्तानी

0 19

ऑस्ट्रेलियाई के खिलाड़ी ग्रेग चैपल आज 70 वर्ष के हो गए है. तो आज हम आपको बताते हैं उनसे जुड़ी कुछ बातें. ग्रेग चैपल का जन्म 7 अगस्त 1948 को ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड में हुआ था. चैपल का पूरा नाम ग्रेगोरी स्टीफेन चैपल है जो ऑस्ट्रेलिया के एक बेहतरीन खिलाड़ी थे.

ग्रेग चैपल एक अनूठे रिकॉर्ड वाले खिलाड़ी है जो क्रिकेट के इतिहास में बहुत कम होते हैं. चैपल ने अपने डेब्यू और करियर के अंतिम टेस्ट में शतक जमाया था. चैपल ने 1971 में इंग्लैंड के खिलाफ खेलकर अपना टेस्ट के लिए शुरू किया था और पाकिस्तान के विरुद्ध खेलते हुए अपना आखिरी मैच खेला था.

क्रिकेट के इतिहास में ग्रेग चैपल और इयान चैपल वह पहले भाई थे, जिन्होंने एक ही टेस्ट मैच की एक ही पारी में शतक जड़ा हो. 1972 में ओवल के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ खेलते हुए इन दोनों भाइयों ने यह कारनामा किया था. इस कारनामे में इयान ने 118 रन और ग्रेग ने 113 रन बनाए थे.

Loading...

लॉर्ड्स का एक टेस्ट मैच चैपल और प्रशंसकों को जिंदगी भर याद रहेगा. इस मैच में चैपल ने पहली पारी में 47 तो दूसरी पारी में मात्र 59 रन बनाए थे. यह मैच उनके रनो के कारण नहीं बल्कि उनके साहस के कारण याद किया जाता है. इस टेस्ट मैच के दौरान एनसीसी के एक मेंबर ने मैदान पर खड़े एंपायर पर हमला कर दिया था, जिसको चैपल ने इंग्लैंड के कप्तान इयान बॉथम की मदद से पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया था.

2005 में जॉन राइट ने जब भारतीय टीम के कोच का पद त्याग दिया तो उस समय चैपल कोच बने थे. लेकिन वह कोचिंग से ज्यादा गांगुली के साथ विवाद के कारण सुर्खियों में रहे थे. चैपल उस समय मुख्य कोच थे और गांगुली के लगातार बल्लेबाजी में खराब प्रदर्शन के कारण उन्होंने कहा कि बतौर कप्तान आप का खराब प्रदर्शन पूरी टीम पर भारी पड़ रहा है.

जिंबाब्वे दौरे पर गांगुली ने एक जबरदस्त शतक जमाया था. उसके बाद मीडिया को गांगुली ने बताया था कि ग्रेग उनसे कप्तानी छोड़ने की बात कह रहे थे. मामले ने तब तक तूल पकड़ लिया था और चैपल ने बीसीसीआई को पत्र लिखा जिसके कारण गांगुली को भारतीय टीम की कप्तानी से हाथ धोना पड़ा. चैपल की कोचिंग मैं भारतीय टीम का प्रदर्शन निराशाजनक ही था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.