Loading...

पेट्रोल-डीजल के बढ़े हुए दामों का विरोध करने जब अटल बिहारी वाजपेई पहुंचे थे बैलगाड़ी से

0 12

अटल बिहारी वाजपेई जी की पिछले 36 घंटे से हालत नाजुक बनी हुई है. वाजपेई बीजेपी के एक धाकड़ नेता थे. विपक्ष में रहते हुए भी उन्होंने कई बार सरकार को मुश्किल में डाल दिया था. Bjp की वर्तमान सरकार पेट्रोल डीजल के कारण कई बार निशाने पर आई है लेकिन पूरे 45 साल पहले इसी का विरोध अटल बिहारी जी ने किया था जो आज तक याद है.

पेट्रोल एवं डीजल के बढ़ते हुए भावों को देखकर वाजपेई जी ने 45 साल पहले इंदिरा गांधी के सरकार पर हमला किया था. इसके तहत व सांसद बैलगाड़ी में पहुंचकर अनोखा विरोध किया था.

12 नवंबर 1973 को प्रकाशित न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार ने बताया था इंदिरा गांधी की सरकार को विरोधी दलों के गुस्से का सामना करना पड़ा था. इस दिन से संसद में 6 सप्ताह तक चलने वाला शीतकालीन सत्र शुरू हो गया था.

Loading...

उस समय पेट्रोल एवं डीजल के बढ़ते दामों को देख कर विपक्षी दलों ने इंदिरा गांधी से इस्तीफा देने की मांग की थी. कई नेताओं ने इसका अलग अलग तरीके से विरोध किया था. अटल बिहारी वाजपेई और अन्य दो बैलगाड़ी से संसद पहुंचे थे. कई दूसरे नेता साइकिल से सांसद में आकर इंदिरा सरकार का विरोध किया था.

अटल बिहारी और कई नेता इंदिरा गांधी के बग्गी में यात्रा करने का विरोध कर रहे थे. इंदिरा पेट्रोल बचाने का संदेश देने के लिए घोड़ा गाड़ी में यात्रा करती थी. यह तेल संकट भारत में इसलिए आ गया था क्योंकि मध्य पूर्व देशों ने भारत को कच्चा तेल भेजने में कटौती कर दी थी. इस कारण इंदिरा की सरकार ने तेल में 80 फ़ीसदी तक उसकी कीमत बढ़ा दिया था तो कई नेताओं ने इसका विरोध किया था.

गुरुवार सुबह जारी किए गए वाजपेयीजी जी के मेडिकल बुलेटिन से पता चला है कि अभी भी वह लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर बेहद नाजुक स्थिति में है. देर शाम तक एम्स की तरफ से एक और बुलेटिन जारी किया जा सकता है जिसमें वाजपेई जी की तबीयत के बारे में बताया जाएगा. इसी बीच वाजपेई जी के घर और पूरे इलाके में सुरक्षा बिछा दी गई है. एसपीजी की टीम ने कई जगह बेरिकेडिंग कर दिए है.

वाजपेई जी की स्थिति को नाजुक देखते हुए सभी नेता अपने कार्यक्रम रद्द करके दिल्ली पहुंच रहे हैं.पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सभी राज्य र के मुख्यमंत्री सभी कार्यक्रमों को रद्द कर के दिल्ली वाजपेई के पास पहुँच रहे है।भारतीय जनता पार्टी ने भी अपने सभी कार्यक्रमों को अटल जी के खराब तबीयत के कारण रद्द कर दिए.

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी भी अटल जी के कुशल क्षेम के लिए दिल्ली एम्स पहुंच जाएंगे कुछ ही देर में. अटल जी के हालचाल पूछने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी समेत कई दिग्गज नेता पहुंच रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी वाजपेई जी के पास पहुंचे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.