Loading...

भारतीय मरीज के साथ की पाक ने अपनी नापाक हरकत

0 20

तुर्की से भारत आने के लिए दिल्ली के विपिन कुमार फ्लाइट में सवार थे, अचानक ही उनकी तबीयत बिगड़ गई, तो पायलट ने पाकिस्तानी अथॉरिटी से विपिन की जांच करके उन्हें सही इलाज दिलवाने के लिए लाहौर में इमरजेंसी लैंडिंग करवाई। मौके पर आए पाकिस्तानी डॉक्टरों ने विपिन के साथ वह व्यवहार किया जो एक डॉक्टर किसी मरीज के साथ नहीं करता है। विपिन 3 घंटे तक जिंदगी के लिए जंग लड़ते रहे, पर पाक के डॉक्टरों ने भारत और पाकिस्तान के खराब राजनीतिक संबंधों का हवाला देकर विपिन का इलाज नहीं किया। जब विमान दिल्ली पहुंचा तो डॉक्टरों ने विपिन का प्राथमिक उपचार किया। उन्हें पास के वेदांता अस्पताल में भर्ती करवा दिया।

विपिन कुमार और उनके दोस्त पंकज मेहता जो कि जालंधर में रहते हैं। उन्होंने बताया कि जब वह बिज़नस ट्रिप पर जाकर वापस भारत लौट रहे थे, तो विपिन को सांस लेने में दिक्कत आने लगी और उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। हालांकि फ्लाइट में पहले से मौजूद एक डॉक्टर ने उनकी खूब सहायता की और उनका ध्यान रखा। पैसेंजर की हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी. जब उनकी हालत में कोई सुधार नहीं आ रहा था, तो पायलट ने पाकिस्तान के लाहौर एयरपोर्ट पर विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करवाकर विपिन के इलाज की गुजारिश की। पाक के डॉक्टर एयरपोर्ट पर तो आए । उन्होंने 3 घंटे इसी बात को लेकर खराब कर दिए कि भारत और पाकिस्तान के राजनीतिक संबंध अच्छे नहीं है। इसलिए वह विपिन का इलाज नहीं कर सकते। जिस कारण विपिन की हालत और भी बदतर हो गई। फिर पायलट ने दिल्ली के अंदर फ्लाइट को लैंड करवाया वहां जाकर विपिन का इलाज हो पाया।

मरीज का कोई धर्म नहीं होता : डॉ. वारिश
डॉक्टर वारिश जो कि वरदान अस्पताल के मालिक है। उन्होंने बताया कि मरीज का कोई धर्म या देश नहीं होता है। डॉक्टर के लिए एक मरीज तो मरीज ही होता है। उसके साथ उचित व्यवहार करना चाहिए चाहे वह किसी भी देश का हो। उन्होंने कहा कि 2015 में पाकिस्तान के लाहौर से शगुफ्ता और उनके पति मलिक मोहम्मद के 6 महीने तक इलाज उन्होंने पंजाब में करवाया था। तब जाकर वह औलाद को प्राप्त कर सके थे।

Loading...

पाक का व्यवहार बिल्कुल सही नहीं : डॉ. विर्क
डॉक्टर विर्क जोकि विर्क फर्टिलिटी एवं आईवीएफ के मालिक है। उन्होंने पाकिस्तान की नापाक हरकत की आलोचना करते हुए कहा है कि उनके अस्पताल में पाकिस्तान से कई मरीज आते हैं। जिनका वह केवल एक मरीज समझकर इलाज करते हैं। पाक के अटॉर्नी जनरल मोहम्मद शिराज, एक कपल आशिया बोनी और उनके पति मोहम्मद का ट्रीटमेंट खुद डॉक्टर विर्क ने किया है। मगर पाकिस्तान ने जिस तरह का व्यवहार एक भारतीय मरीज के साथ किया है वह कतई सही नहीं है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.