Loading...

पिछले 7 वर्षो में लॉर्ड्स के मैदान पर ऐसे रहे हैं एशियाई टीमो के आंकड़े

0 12

दुनिया की हर क्रिकेट टीम चाहती है कि वो लॉर्ड्स के मैदान पर अपनी जीत दर्ज करे। लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर पिछले 7 वर्षों में एशियाई टीमो का अच्छा प्रर्दशन रहा हैं। आखिरी एशियाई टीम इंडिया 2011 में इंग्लैंड से हारी थी उसके बाद यहां पर इंग्लैंड ने एशियाई टीमो के खिलाफ यहाँ पर 5 मैच खेले जिसमे से 3 में उसे हार मिली जबकि 2 मैच ड्रा रहे।

2014 रहा था इंग्लैंड के लिए अनलकी

जून 2014 में इंग्लैंड-श्रीलंका के बीच खेले गए मैच का परिणाम ड्रा रहा वही भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए मैच में इंग्लैंड को 95 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने इस मुकाबले में अजिंक्या रहाणे के 103 रन की मदद से 295 रन बनाए। इंग्लैंड ने गैरी बैलेंस के 110 रन से 319 रन बनाकर पहली पारी में 24 रन की बढ़त हासिल कर ली। भारत ने दूसरी पारी में मुरली विजय के 95, रवींद्र जडेजा के 68 और भुवनेश्वर कुमार के 52 रन की बदौलत दूसरी पारी में 342 रन बनाये। इंग्लैंड की टीम 319 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 223 रन पर सिमट गयी। इशांत शर्मा ने घातक गेंदबाजी करते हुए 74 रन पर सात विकेट झटके और भारत को जीत दिलाई। इशांत अपनी गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच बने।

Loading...

इंग्लैंड को पिछले 2 मुक़ाबले में इसी मैदान पर पाकिस्तान से मिली हार

जुलाई 2016 में इंग्लैंड को 75 रनों से पराजय का सामना करना पड़ा वही 2018 में 9 विकेट से पराजित हो गयी। इन आंकड़ों को देखा जाए तो ये आंकड़े इंडिया के लिए प्रेरणा का स्रोत साबित हो सकते हैं। वैसे भारत के इस मैदान में अच्छे रिकॉर्ड नही है इंडिया ने अपना आखरी मुक़ाबला इस मैदान में 2014 में जीत था और उस से पहले 1984 में। इस मैदान में इंग्लैंड के साथ भारत ने अब तक 17 मुक़ाबला खेले जिसमे उसे 11 मैचों में हार का सामना करना पड़ा और इंडिया के हाथों सिर्फ 2 जीत दर्ज हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.