Loading...

ये गांव पार्किंग से कमाई कर हो गया इतना अमीर ऑथरिटी ने लोगों से कहा – अब मत भरो टेक्स

0 18

फ्रांस के एक गांव का बड़ा ही अजीबोगरीब मामला सामने आया है. दरअसल फ्रांस का यह गांव इतना अमीर हो गया कि इस गांव में रहने वाले लोगों को टैक्स भरने से मना कर दिया गया है. इस गांव में करीब 586 लोग रहते हैं और यहां रहने वाले लोग केवल पार्किंग के जरिए ही सालभर में 6 करोड़ की कमाई कर लेते हैं. लिहाजा इस गांव के रहने वाले लोगों को टैक्स भरने की कोई भी आवश्यकता नहीं है.

फ्रांस के अजीबोगरीब गांव का नाम है ला परथूस. इस गांव की लोकल काउंसलिंग ने काउंसिल ऑफ प्रॉपर्टी टैक्स बंद करने की अपील की है. ऐसा इसलिए क्योंकि इस गांव के पास अपने खर्चे ज्यादा पैसा इकट्ठा हो चुका है.

खर्चे से ज्यादा पैसा इकट्ठा हो जाने के बाद काउंसिल ने अब गांव के लोगों से हर साल भरे जाने वाला 3 करोड़ का टैक्स देने से भी मना कर दिया है. वहीं ऑडिट ऑफिस की हेड एंद्रे पेज्जिआर्दी ने कहा कि हमने यहां लगने वाले लोकल टेक्स को अब जीरो कर दिया है.

Loading...

वहीं दूसरी तरफ लोकल अथॉरिटी अपने इस फैसले को लेकर अलग ही तर्क बता रही है. लोकल अथॉरिटी का कहना है कि वह इस फैसले के खिलाफ है और इससे विकास के काम पर बहुत गहरा असर पड़ेगा.

दरअसल आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह गांव फ्रांस और स्पेन की सीमा पर मौजूद है और देखा जाए तो फ्रांस की तुलना में सबसे सस्ता सामान स्पेन में मिलता है. ऐसे में फ्रांस के रहने वाले लोग बॉर्डर पर लोकल ऑथरिटी की पार्किंग में अपनी गाड़ियों को खड़ी कर देते हैं और उसके बाद खरीदारी करने के लिए बॉर्डर को पार करके स्पेन चले जाते हैं.

इसी वजह से इस गांव की पार्किंग से सबसे ज्यादा कमाई हो जाती है. डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार फ्रांस के जितने भी लोग रेगुलर तौर पर शॉपिंग करने के लिए स्पेन जाते हैं वो लोग केवल पार्किंग के ऊपर ही सालभर में 1 लाख से ज्यादा का खर्चा कर देते हैं.

फ्रांस के लोग पार्किंग के ऊपर इतना ज्यादा पैसा खर्च करने के बाद भी स्पेन जाकर शॉपिंग करना पसंद करते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि पार्किंग के लिए दिए गए किराए से ज्यादा उनकी शॉपिंग में बचत हो जाती है. जी हां फ्रांस के मुकाबले स्पेन में तंबाकू, शराब और परफ्यूम जैसे कई सामान टैक्स कम होने की वजह से काफी सस्ते मिल जाते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.